मुस्लिम युवकों ने हिंदू को पीटा, उंगली काटी, करंट लगाया, पर क्‍यों? जानिए VIDEO का पूरा सच

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नोएडा। उत्तर प्रदेश के संवेदनशील जिलों में से एक आजमगढ़ से चला एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो को लेकर तनाव की स्थिति पैदा हो सकती है क्‍योंकि इसमें कुछ मुस्लिम, एक हिन्दू युवक को बिजली के झटके दे रहे है, युवक चिल्ला रहा है, बख्‍शने की भीख मांग रहा है, रहम करने के लिए गिड़गिडा रहा है, लेकिन मुस्लिम युवक एक भी नही सुन रहे हैं और लगातार उसे करंट दिए जा रहे हैं। इतना ही नहीं युवक की उंगली तक काट दी जाती है। पीडि़त युवक का दावा है कि उसके साथ ऐसा इसलिए किया गया क्‍योंकि उसने मुस्‍लिम युवकों को पीएम मोदी और सीएम योगी को गाली देने से रोका था। लेकिन पुलिस ने इस घटना के पीछे अलग ही मामला बताया है। तो आइए आज आपको वायरल हो रहे इस वीडियो की सच्‍चाई के बारे में बताते हैं।

पहले जानते हैं क्‍या है पीडि़त युवक का दावा

पहले जानते हैं क्‍या है पीडि़त युवक का दावा

पीड़ित युवक का नाम शिव कुमार वर्मा है। शिव कुमार का दावा है कि उसने कुछ लोगों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी के सीएम योगी आदित्य नाथ को गालियां देने से मना कर दिया। जिसके चलते उन लोगों ने इसके साथ ऐसी दरिंदगी की। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पीड़ित युवक ने थाने में तहरीर दी।

बंदूक के बल पर घर से उठा ले गए

बंदूक के बल पर घर से उठा ले गए

शिव कुमार वर्मा ने बताया कि उसने जब उन लड़कों को ऐसा करने से मना किया तो वो लोग उसे सबक सिखाने की धमकी दे कर वहां से चले गए। पीड़ित ने बताया कि अगले दिन वो लोग उसके घर पहुंचे और तमंचे की नोक पर उसे घर से अगवा कर अपने तबेले पर ले गए। शिव कुमार ने मीडिया को बताया कि वहां उसे लोहे के बिस्तर पर लिटा कर बिजली के शॉक दिये गए। उसके बाद उन लोगों ने चाकू से उसकी उंगली भी काट दी। इन यातनाओं से जब शिव कुमार बेहोश हो गया तो उसे उसके घर के पास की सड़क पर वो लोग फेंक गए।

अब जानिए असली मामला

दरअसल इस वीडियो की सच्‍चाई कुछ और ही है। कुछ नापाक मंसूबे वाले इसे सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश कर रहे हैं। मामला यह था कि शिव कुमार को वहीं के कुछ लोगों ने मोबाइल चोरी के आरोप में पकड़ा था। शिव कुमार ने मोबाइल चुरा कर 600 रुपए में बेचा था और इस बात को उसने कबूल किया था। मोबाइल वापस मांगने पर जब वो आनाकानी करने लगा तो उसके साथ मारपीट की गई और करंट लगाया गया। इन्‍हीं में से किसी ने इसका वीडियो बना लिया और WhatsApp पर वायरल कर दिया। वीडियो वायरल होने पर शिवकुमार ने मीडिया के सामने अपनी गलती छिपाने के लिए यह कहानी गढ़ दी कि मुस्‍लिम युवक योगी और मोदी को गाी दे रहे थे जिसपर उसने उन्‍हें रोका तो उसके साथ यह तालिबानी सुलूक किया गया। यूपी पुलिस ने अपने ट्विटर हैंडल से इस बात की जानकारी दी है।

ये ही है वो VIDEO

आप भी वो VIDEO देख लीजिए जिसमें किस तरह शिव कुमार अपनी गलती छिपाने के लिए चोरी के मामले को सांप्रदायिक रंग दे देता है। मीडिया से वो कहता है कि मुस्‍लिम युवक पीएम मोदी और सीएम योगी को गाली दे रहे थे। जिसमें बिल्‍कुल भी सच्‍चाई नहीं है।

वनइंडिया की अपील

वनइंडिया की अपील

वनइंडिया इस खबर के माध्‍यम से यह अपील करना चाहता है कि इस वीडियो की सच्‍चाई को एक जिम्‍मेदार नागरिक की तरह शेयर करें ताकि इसे सांप्रदायिक रंग न मिल सके। ऐसा इसलिए जरूरी है क्‍योंकि ऐसे ही एक वीडियो के चलते मुजफ्फरनगर में दंगों की शुरुआत हुई थी। उस समय एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें भीड़ द्वारा दो युवकों को मारा जा रहा था। ऐसा बताया जा रहा था कि मारने वाले मुस्‍लिम हैं और पिटने वाले हिंदू। छानबीन में पता चला था कि यह वीडियो पाकिस्‍तान का है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Reality check: Was a Hindu man tortured by Muslim mob for stopping them from abusing PM Modi?
Please Wait while comments are loading...