VIDEO: पुलिस की पकड़ से खींच कर व्यापारियों ने सिख किसान को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा

Posted By: Prashant
Subscribe to Oneindia Hindi

शाहजहांपुर। यूपी के शाहजहांपुर में व्यापारियों की गुंडई का नजारा देखने को मिला। धान बेचने आए सिख किसान को व्यापारियों ने उनकी आढ़त पर धान ना बेचने पर पहले तो जमकर पीटा और दहशत फैलाने के लिए फायरिंग की। जब किसान जान बचा कर भागा व्यापारियों ने किसान को पुलिस से छुड़ाकर लाठी-डंडों से दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। इस दौरान व्यापारियों की भीड़ के सामने बस पुलिस लाचार नजर आई। वहीं सत्ता पक्ष और व्यापारियों के दबाव के चलते किसान पर ही लूट और हमले का झूठा मुकदमा दर्ज कर घायल किसान को ही गिरफ्तार कर लिया। किसान थाने में जिंदगी और मौत से जूझ रहा है।

रोजा मंडी धान बेचने आया था किसान

रोजा मंडी धान बेचने आया था किसान

मामला थाना रोजा के मंडी समिति का है जहां थाना पाली नरसिया मऊ निवासी दिलबाग सिंह ट्रैक्टर ट्राली में भरकर अपना धान रोजा मंडी बेचने आया था। किसान का आरोप है कि आढ़ती सचिन अग्रवाल और उसके साथी जबरन उसका धान अपनी आदत पर तौलाना चाहते थे लेकिन उसने अपना धान सामने ही दूसरी दुकान पर बेच दिया। जिसके बाद आक्रोशित व्यापारियों और उसके साथियों ने व्यापारी को अपनी आढ़त पर पहले बंधक बनाकर पीटा। जब किसान अपनी जान बचा कर भागा तो व्यापारियों ने किसान को पूरी मंडी में दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। इस दौरान किसान अपनी जान बचाने की दुहाई और भीख मांगता रहा लेकिन सैकड़ों की भीड़ तमाशबीन बनी रही।

पुलिस की मौजूदरी में पीटा

पुलिस की मौजूदरी में पीटा

सूचना पर पहुंची पुलिस ने जब किसान को बचाने की कोशिश की तो व्यापारियों ने किसान को पुलिस से छीन कर पुलिस की मौजूदगी में लाठी डंडों से जमकर पीटा। इस दौरान पुलिस सिर्फ यही करती नजर आई की बस करो मर जाएगा। फिलहाल व्यापारियों की पिटाई से लहूलुहान किसान दिलबाग सिंह को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां वह जिंगदी मौत से जूझ रहा है। हाल ये रहा कि व्यापारियों ने खुद को फंसता देख बिचारे पिटे किसान के खिलाफ ही लूट का मुकदमा लिखा कर उसे गिरफ्तार करवा दिया। जिंदगी और मौत से जूझ रहा किसान अब इंसाफ की गुहार लगा रहा है।

पुलिस दोषियों पर नहीं कर रही कार्रवाई

पुलिस दोषियों पर नहीं कर रही कार्रवाई

किसान का आरोप है नगर विकास मंत्री सुरेश कुमार खन्ना के दबाव के चलते पुलिस ने दोषी व्यापारियों के खिलाफ कोई कार्रवाई करने के बजाए उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उस को गिरफ्तार कर लिया है। गंभीर हालत में घायल किसान जिला अस्पताल की जगह थाने में गिरफ्तार जिंदगी और मौत से जूझ रहा है, फिलहाल सत्ता पक्ष के दबाव और व्यापारियों की गुंडई के आगे पुलिस नतमस्तक नजर आ रही है। वहीं व्यापारी जमकर खुली गुंडई पर उतारू है। अब देखना यह है कि पीड़ित किसान को योगी सरकार में इंसाफ मिलता है या नहीं।

ये भी पढ़ें- NTPC Blast: हादसे के बाद आधे घंटे तक फंसे थे मजदूर, तड़प-तड़प के निकली थी जान

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Farmer denies selling his crops. the shopkeepers Beaten him in Shahjahanpur Uttar Pradesh
Please Wait while comments are loading...