सहारनपुर में फिर से जातीय हिंसा, दीवार बनाने को लेकर दो पक्षों में मारपीट

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

सहारनपुर। शब्बीरपुर में भड़की जातीय हिंसा की आग अभी पूरी तरह से शांत नही हो पाई थी कि अब दल्हेड़ी गांव से दो पक्षों के संघर्ष की खबरें सामने आ रही हैं। दीवार बनाने को लेकर ब्राहमण और दलित पक्ष के बीच विवाद इतना बढ़ा कि बात ही बात में दोनों पक्षों में मामला मारपीट और पथराव तक जा पहुंचा। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस को भी दोनों पक्षों के बीच हो रहे पथराव के कारण पीछे हटना पड़ा। पुलिस ने एक युवक को हिरासत में लिया है। पुलिस दोनों पक्षों को थाने पर बैठा कर समझौता कराने में लगी है। उधर समाचार लिखे जाने तक हिरासत में लिए युवक को छुड़ाने के लिए सैंकड़ों दलित युवक एंव महिलाऐं थाने पर डटे हुए थे।

सहारनपुर में फिर से जातीय हिंसा, दीवार बनाने को लेकर दो पक्षों में मारपीट

दल्हेड़ी गांव में रविदास मंदिर के पास अमन पुत्र दीपचंद का एक पुराना मकान है जिसका एक दरवाजा मंदिर की ओर खुला हुआ है। सोमवार सुबह कुछ दलित युवक इस दरवाजे को बंद करते हुए ईटों से दीवार बनाने लगे। अमन और उसकी पत्नि जब उन्हें रोकने लगे तो आरोप है कि कुछ दलित युवकों ने उन दोनों के साथ मारपीट कर ईंटों से पथराव शुरू कर दिया। पीड़ित अमन ने थाना पर फोन से पुलिस को घटना की सूचना दी। जिस पर सीओ देवबंद सिद्धार्थ व थानाध्यक्ष मुनेंद्र सिंह भारी फोर्स लेकर मौके पर पहुंचे लेकिन पथराव के सामने उन्हे भी पीछे हटना पड़ा।

सहारनपुर में फिर से जातीय हिंसा, दीवार बनाने को लेकर दो पक्षों में मारपीट

बाद में सीओ ने दबाव बनाते हुए पत्थर बाजी कर रहे एक दलित युवक देव पुत्र महीपाल को हिरासत में ले लिया उसके बाद हिरासत में लिए युवक को छुड़ाने को लेकर दल्हेड़ी गांव से सैंकड़ों दलित युवक व महिलाऐं थाना पर आ ड़टे। पुलिस ने दोनों पक्षों के दो दो लोगों को थाने बैठा कर समझौते का प्रयास किया लेकिन कामयाब नही हो सके। समाचार लिखे जाने तक दलित पक्ष के लोग थाना पर ही डटे हुए थे। थानाध्यक्ष मुनेंद्र सिंह का कहना है कि मामले की रिर्पोट एसडीएम रामपुर को भेज दी जायेगी। आगे की कार्यवाही उनके आदेश के बाद ही होगी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
another violence in saharanpur, this time in dalhedi village
Please Wait while comments are loading...