• search
उज्जैन न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

IIT कपल ने डेढ़ करोड़ की नौकरी छोड़ पेड़-पौधों से की दोस्ती, अर्पित-साक्षी माहेश्वरी की लव स्टोरी भी है खास

|
Google Oneindia News

उज्जैन, 13 मई। IIT से पास हाउस हर कोई इंजीनियर मोटी तनख्वाह में नौकरी करता मिल जाएगा, लेकिन हम जिस कपल की बात कर रहे हैं वो जरा हटकर है। इन्होंने करीब डेढ़ करोड़ रुपए सालाना का पैकेज सिर्फ पेड़-पौधों से दोस्ती करने के लिए छोड़ दिया।

पर्मा कल्चर फार्मिंग कर रहे

पर्मा कल्चर फार्मिंग कर रहे

बीते चार साल से ये बागवानी, खेती व जंगल में रच बस गए हैं। दोनों मध्य प्रदेश उज्जैन के बड़नगर कस्बे में डेढ़ एकड़ जमीन पर पर्मा कल्चर फार्मिंग कर रहे हैं। खुद के लिए फल, सब्जियां और अनाज उगा रहे हैं।

 अर्पित माहेश्वरी और साक्षी माहेश्वरी का इंटरव्यू

अर्पित माहेश्वरी और साक्षी माहेश्वरी का इंटरव्यू

वन इंडिया हिंदी से बातचीत में इंजीनियर अर्पित माहेश्वरी और साक्षी माहेश्वरी ने अपनी जिंदगी की कई बातें शेयर की, जिनमें IIT से ग्रेजुएशन, लव मैरिज, बेंगलुरु व अमेरिका में जॉब से लेकर उज्जैन के बड़नगर में किसान बनने का तक पूरा सफर शामिल है।

अर्पित जोधपुर से साक्षी दिल्ली से

अर्पित जोधपुर से साक्षी दिल्ली से

अर्पित माहेश्वरी ने बताया कि वे मूलरूप से राजस्थान के जोधपुर शहर के रहने वाले हैं। जोधपुर के बासनी क्षेत्र में सरस्वती नगर में घर है। वहीं, इनकी पत्नी साक्षी दिल्ली से है। वर्तमान में दोनों उज्जैन के बड़नगर में रहते हैं। यहां पर दोनों ने 2018 में बड़नगर में साढ़े बीघा जमीन खरीदी।

 बेंगलुरु व अमेरिका में जॉब

बेंगलुरु व अमेरिका में जॉब

बड़नगर में खेती करने से पहले अर्पित माहेश्वरी व साक्षी साल 2016 तक बेंगलुरु में जॉब करते थे। कुछ समय के लिए अर्पित ने अमेरिका के कैलिफोर्निया में बतौर सॉफ्टवेयर इंजीनियर भी जॉब किया। चार साल पहले नौकरी छोड़ी तब दोनों का सालाना पैकेज करीब डेढ़ रुपए था।

अर्पित ने पाई थी दूसरी रैंक

अर्पित ने पाई थी दूसरी रैंक

अर्पित कहते हैं कि मैंने मुम्बई आईआईटी से पढ़ाई की। एंट्रेंस एग्जाम में ऑल इंडिया में सेकंड रैंक थी। साक्षी को 1900वीं रैंक मिली थी। उसी दौरान बड़नगर निवासी करण गिरदानी से दोस्ती हुई थी। करण ​के पिता ​दामोदर के सपोर्ट से हम पति-पत्नी ने यहां पर जमीन खरीदकर उस पर खेती करना शुरू किया है।

2007 में हुई साक्षी से मुलाकात

2007 में हुई साक्षी से मुलाकात

साल 2007 में मुम्बई में फिजिक्स ओलंपियाड हुआ था, जिसमें देशभर के आईआईटी के बच्चों ने हिस्सा लिया था। दिल्ली आईआईटी से साक्षी भी आई थी। दोनों को फिजिक्स ओलंपियाड में गोल्ड मेडल मिला और इनके बीच दोस्ती भी हो गई थी, जो बाद में प्यार में बदली और पांच-छह साल एक-दूसरे को डेट करने के बाद साल 2013 में इन्होंने प्रेम विवाह किया।

इस मुस्लिम परिवार ने दिया 15वां अफसर, अब बेटी कायनात खान ने शादी के 13 साल बाद रचा इतिहासइस मुस्लिम परिवार ने दिया 15वां अफसर, अब बेटी कायनात खान ने शादी के 13 साल बाद रचा इतिहास

Comments
English summary
IIT toppers Arpit Maheshwari Sakshi Maheshwari left jobs started farming in Badnagar Ujjain
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X