• search
उदयपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

दक्षिण अफ्रीका से आए शव को पुलिस थाने ले जाकर परिजनों ने मांगे 35 लाख रुपए

|

Udaipur News , उदयपुर। राजस्थान के आदिवासी बाहुल्य इलाकों में मौताणे की प्रथा वर्तमान में भी कायम है। इसका असर शुक्रवार को एक पुलिस थाने में भी देखने को मिला है।

Protest at Savina Police Station For Moutana in Udaipur

जानकारी के अनुसार उदयपुर निवासी नाथूलाल का बेटा अर्जुन लाल दक्षिण अफ्रीका में काम करता था। वहां उसकी मौत हो गई है। शुक्रवार को उसका शव दक्षिण अफ्रीका से उदयपुर पहुंचा। यहां से एम्बुलेंस में रखकर शव को दाह संस्कार के लिए उसके पैतृक गांव ले जाना था, मगर परिजन शव को गांव ले जाने की बजाय सवीना पुलिस थाना ले गए और वहां पर मौत के बदले 35 लाख रुपए के मौताणे की मांग करने लगे।

Protest at Savina Police Station For Moutana in Udaipur

मृतक अर्जुन के पिता नाथूलाल ने बताया कि उसके सात बेटे हैं, जिनमें से एक गुंगा बहरा है। पूरे परिवार की जिम्मेदारी अर्जुन के कंधों पर थी। अब अर्जुन की मौत की वजह से उसके परिवार का जीवन यापन कर पाना मुश्किल हो जाएगा। इसलिए उसके परिवार को 35 लाख रुपए का मौताणा दिया जाना चाहिए। अर्जुन लाल जिस कम्पनी में काम करता था उस कम्पनी से मौताणा दिलवाने की मांग पर परिजनों का करीब आठ घंटे से पुलिस थाने में धरना प्रदर्शन जारी रहा।

जानिए क्या है मौताणा


राजस्थान के उदयपुर, बांसवाड़ा, डूंगरपुर आदि जिले आदिवासी बाहुल्य है। आदिवासियों में मौताणा की कुप्रथा वर्षों से चली आ रही है। इसका मतलब ये है कि किसी अन्य व्यक्ति की लापरवाही के कारण मौत हो जाने पर पीड़ित परिवार की ओर से एक निश्चित राशि की मांग की जाती है, जिसे मौताणा कहा जाता है। हालांकि मौताणे को लेकर अक्सर विवाद की स्थिति पैदा होती है। कानून व्यवस्था तक बिगड़ने की आशंका बनी रहती है।

जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

उदयपुर की जंग, आंकड़ों की जुबानी
वर्ष
प्रत्याशी का नाम पार्टी स्‍थान वोट वोट दर मार्जिन
2014
अर्जुनलाल मीना भाजपा विजेता 6,60,373 57% 2,36,762
रघुवीर सिंह कांग्रेस उपविजेता 4,23,611 36% 0
2009
रघुवीर सिंह मीना कांग्रेस विजेता 4,11,510 54% 1,64,925
महावीर भगोरा भाजपा उपविजेता 2,46,585 33% 0
2004
किरण महेश्वरी भाजपा विजेता 3,98,059 52% 74,875
गिरिजा व्यास कांग्रेस उपविजेता 3,23,184 43% 0
1999
गिरिजा व्यास कांग्रेस विजेता 3,72,645 53% 54,091
शांति लाल छपलोट भाजपा उपविजेता 3,18,554 46% 0
1998
शांति लाल छपलोट भाजपा विजेता 3,67,994 50% 11,447
गिरिजा व्यास कांग्रेस उपविजेता 3,56,547 49% 0
1996
गिरिजा व्यास कांग्रेस विजेता 2,50,601 51% 40,465
मुरली मनोहर भाजपा उपविजेता 2,10,136 43% 0
1991
गिरजा व्यास (डब्ल्यू) कांग्रेस विजेता 2,71,147 51% 26,623
गुलाब चंद्र कटारिया भाजपा उपविजेता 2,44,524 46% 0
1989
गुलाब चैन कटारिया भाजपा विजेता 3,39,665 58% 1,30,502
इंदु बाला सुखाड़िया कांग्रेस उपविजेता 2,09,163 36% 0
1984
इंदुबाला सुखाड़िया कांग्रेस विजेता 2,64,214 59% 1,04,802
भानु कुमार शास्त्री भाजपा उपविजेता 1,59,412 36% 0
1980
मोहन लाल सुखदिया कांग्रेस(आई) विजेता 2,25,689 53% 51,897
भानु कुमार शास्त्री जेएनपी उपविजेता 1,73,792 40% 0
1977
भानु कुमार शास्त्री बीएलडी विजेता 2,40,181 67% 1,47,056
कालू लाल श्रीमाली कांग्रेस उपविजेता 93,125 26% 0
1971
ललिया एसडब्‍ल्‍यूए विजेता 1,37,968 51% 3,404
धूलेश्वर कांग्रेस उपविजेता 1,34,564 49% 0
1967
धूलेश्वर कांग्रेस विजेता 1,82,502 61% 65,506
हुर्म एसडब्‍ल्‍यूए उपविजेता 1,16,996 39% 0
1962
धूलेश्वर कांग्रेस विजेता 79,831 46% 25,216
राम सिंह एसडब्‍ल्‍यूए उपविजेता 54,615 31% 0
1957
दीन बंधु कांग्रेस विजेता 1,25,229 27% 87,898
1952
बलवंत सिंह कांग्रेस विजेता 37,331 41% 3,570
लाल सिंह बीजेएस उपविजेता 33,761 37% 0

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Protest at Savina Police Station For Moutana
For Daily Alerts

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more