• search
उदयपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

राजस्थान के अम्बिका माता मन्दिर से है कंगना रनौत का खास रिश्ता, जानिए 150 साल पुरानी कहानी

|

उदयपुर। अभिनेत्री कंगना रनौत और महाराष्ट्र की शिवसेना सरकार आमने-सामने है। शिवसेना नेता संजय राउत के विवादित बयानों से शुरू हुआ मामला बीएमसी द्वारा कंगना के दफ्तर पर बुलडोजर चलाए जाने से लेकर कोर्च कचहरी तक पहुंच गया है। कंगना ने ट्वीट कर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उधव ठाकरे तक को सीधे तौर पर ललकार दिया। वहीं, शिवसेना द्वारा कंगना का जमकर विरोध किया जा रहा है। कंगना के खिलाफ एफआईआर तक दर्ज करवा दी गई है।

कंगना रनौत बनाम महाराष्ट्र सरकार

कंगना रनौत बनाम महाराष्ट्र सरकार

देशभर की सुर्खियां बन रहे कंगना रनौत बनाम महाराष्ट्र सरकार के इस मामले के बीच जानिए कंगना का राजस्थान के अम्बिका माता मंदिर से खास रिश्ता। कहते हैं इसी देवी मां के आर्शीवाद से कंगना को अन्याय के खिलाफ लड़ने की ताकत मिलती है। अम्बिका माता मंदिर व कंगना के रिश्ते की यह पूरी कहानी डेढ़ सौ साल पुरानी है।

Rume Devi : झोपड़ी से यूरोप तक का सफर, कभी पाई-पाई को थीं मोहताज, फिर 22 हजार महिलाओं को दी 'नौकरी'

 12 सौ साल पुराना है अम्बिका माता का मंदिर

12 सौ साल पुराना है अम्बिका माता का मंदिर

बता दें कि राजस्थान के उदयपुर जिला मुख्यालय से करीब 50 किलोमीटर दूर गांव जगत में अम्बिका माता का मंदिर है। यह मंदिर अपनी स्थापत्य कला के लिए प्रसिद्ध है। इसे मेवाड का खजुराहो भी कहा जाता है। देवी मां का यह मंदिर 1200 साल पुराना बताया जाता है।

मजदूर का बेटा बना पुलिस अफसर, सिक्योरिटी गार्ड पिंटू राणा रात को करता था चौकीदारी, दिन में पढ़ाई

कंगना के परिवार की कुलदेवी हैं अम्बिका माता

राजस्थान पत्रिका की खबर के मुताबिक उदयपुर के जगत की अम्बिका माता कंगना रनौत के परिवार के परिवार की कुलदेवी हैं। करीब डेढ़ सौ साल पहले कंगना के पूर्वज यहीं रहते थे। फिर यहां से हिमाचल के मंंडी जाकर बस गए, मगर इस मंदिर में कंगना के परिवार की आज भी गहरी आस्था है।

बिना स्कूल गए राजस्थान का इरफान खान बन गया 'गणितज्ञ', देखें इस चलते फिरते कैलकुलेटर का VIDEO

 कंगना ने पूरा किया मां का सपना

कंगना ने पूरा किया मां का सपना

पूर्व में मीडिया से बातचीत में कंगना रनौत ने बताया कि उनकी मां आशा रनौत को सपने में कन्या दिखाई देती थी। पंडितों से इस बात का जिक्र किया तो उन्होंने कन्या को उनकी कुल देवी बताया। मां के इस सपने के आधार पर कंगना व उनके परिवार ने अपने गांव में कुल देवी का नया मंदिर बनवाने का मन बनाया। इससे पहले अपनी कुल देवी के पुराने मंदिर के बारे में तलाश शुरू की, जो उदयपुर के जगत​ स्थि​त अम्बिका माता मंदिर में आकर पूरी हुई।

Ummul Kher : झुग्गी झोपड़ी की लड़की उम्मुल खेर बनी IAS, पैरों में 16 फ्रैक्चर, 8 बार हुआ ऑपरेशन

जब कंगना आई अम्बिका माता मंदिर में

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार वर्ष 2018 में कंगना जगत के अम्बिका माता मंदिर में आईं। यहां पर विशेष पूजा पाठ करवाया। फिर से मां की ज्योति लेकर हिमाचल प्रदेश स्थित अपने गांव धबोई लेकर गईं। धबोई में वर्ष 2019 में कंगना ने देवी मां के मंदिर का निर्माण करवाया। इस मंदिर के निर्माण के राजस्थान के लाल पत्थर का इस्तेमाल किया गया। उदयपुर के ही पंडितों ने मंदिर में कुलदेवी की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा करवाई।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Kangana Ranaut Connection with Ambika Mata temple Udaipar Rajasthan
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X