• search
सूरत न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

17 साल से मायके में रह रही पत्नी से पति को कोर्ट ने दिलाया तलाक- सास ससुर की सेवा न करना क्रूरता

|

सूरत. गुजरात में सूरत के एक शख्स को अदालत ने तलाक की मंजूरी दे दी। उसके मुताबिक, उसकी बीवी लड़-झगड़कर पिछले करीब 17 साल से मायके में रह रही थी। उसकी क्रूरता से तंग आकर पति ने कोर्ट में तलाक की अर्जी दी थी। कोर्ट ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनीं। उसके बाद पति की तलाक की अर्जी मंजूर कर ली। कोर्ट ने कहा कि वृद्ध सास-ससुर की सेवा न करना पति के प्रति बड़ी क्रूरता है। पत्नी को पति के कहे पर अब अलग हो जाना चाहिए।

Wife living was separately for last 17 years, husband gives talaq

जानकारी के अनुसार, अठवालाइंस में रहने वाली रश्मि (बदला हुआ नाम) की शादी ओलपाड़ में एक शख्स के साथ हुई थी। वैवाहिक जीवन में दोनों को एक बेटी पैदा हुई। शादी के कुछ दिन बीतने के बाद रश्मि अपने पति और सास-ससुर के साथ खराब बर्ताव करने लगी। पति के आरोप हैं कि, वो मुझे अपशब्द भी कहने लगी थी। जबकि, मैं वैवाहिक जीवन को बनाए रखने के लिए सब कुछ सह रहा था। वह फिर भी नहीं मानती थी। एक रोज तो झगड़ा करने के बाद पत्नी ने फिनाइल पीकर आत्महत्या करने की कोशिश भी की थी।

Wife living was separately for last 17 years, husband gives talaq

पति ने कहा कि, मैंने उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अस्पताल से ठीक होने के बाद उसका पिता उसे अपने साथ लेकर चला गया। 17 साल हो गए, वह मायके में ही रह रही थी। मैंने उसे मनाने की बहुत कोशिश की, पर वह नहीं आई। अंतत: मैंने एडवोकेट प्रीति जोशी के माध्यम से तलाक की अर्जी दी थी। जो मंजूर हो गई है।

जनता कर्फ्यू को क्रिकेटर रवींद्र जाडेजा ने किया सपोर्ट, बीवी रीवाबा भी वीडियो में यह बोलीं

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Wife living was separately for last 17 years, husband gives talaq
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X