• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

चेतेश्वर पुजारा ने चुनी विदेशी धरती पर मिली अपनी सबसे पसंदीदा जीत

Google Oneindia News

नई दिल्ली, 25 अगस्त: चेतेश्वर पुजारा भले ही भारत के लिए अच्छी फॉर्म में नहीं हों लेकिन काउंटी में भगवान की तरह से खेल रहे हैं। इससे पहले उन्हें पिछले 12 महीनों में खराब प्रदर्शन के लिए भारतीय टेस्ट टीम से बाहर कर दिया गया था। वह एक समय महत्वपूर्ण नंबर तीन नंबर पर भारत के सबसे विश्वसनीय विदेशी बल्लेबाजों में से एक थे।

पुजारा ने जनवरी 2018 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जोहान्सबर्ग टेस्ट मैच में एक महत्वपूर्ण पारी खेली थी, जहां उन्होंने 53 गेंदों के बाद एक कठिन पिच पर बहुत असमान उछाल के साथ अपना पहला रन बनाया। उन्होंने 2018/19 सीजन में ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान 521 के साथ सबसे अधिक रन बनाए।

2021 का गाबा टेस्ट मैच चुना

2021 का गाबा टेस्ट मैच चुना

हालांकि, उनमें से कोई भी पुजारा की पसंदीदा विदेशी टेस्ट जीत नहीं है और केवल एक चीज जो उनके लिए खास बनी हुई है, वह है जनवरी 2021 में गाबा में भारत की यादगार जीत, जब भारत ने क्रिकेट का एक निडर ब्रांड खेलकर ऑस्ट्रेलिया के 33 साल के प्रभुत्व को समाप्त कर दिया।

ट्विटर पर एक सवाल-जवाब के सिलसिले के दौरान, सीनियर टेस्ट बल्लेबाज से पूछा था कि उनकी पसंदीदा विदेशी टेस्ट जीत कौन सी है, और उसी का जवाब देते हुए उन्होंने 2021 का गाबा टेस्ट मैच चुना।

मजबूत चट्टान की तरह खड़े थे पुजारा

मजबूत चट्टान की तरह खड़े थे पुजारा

भारत के लिए गाबा में उस जीत में चेतेश्वर पुजारा का एक बड़ा हिस्सा था। ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने बॉडीलाइन गेंदबाजी रणनीति का सहारा लिया और सौराष्ट्र के क्रिकेटर की उंगलियों, हेलमेट, हाथों आदि पर चोट लगी। पर वे हार मानते नहीं दिखे और एक मजबूत चट्टान की तरह खड़े हुए और एक महत्वपूर्ण अर्धशतक बनाया, लेकिन वह बहुत लंबे समय तक जारी नहीं रख सके क्योंकि वह पैट कमिंस द्वारा विकेट के सामने फंस गए थे।

वापसी का इंतजार

वापसी का इंतजार

आखिरकार शुभमन गिल (91) और विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत (89 *) ने भारत को श्रृंखला 2-1 से सील करने और प्रतिष्ठित बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी को बरकरार रखने के लिए मदद की। इस प्रकार, भारतीय टीम ने भी ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर लगातार दूसरी टेस्ट श्रृंखला जीत दर्ज की। पुजारा ने 2020/21 ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सीरीज को 271 रनों के साथ समाप्त किया और 928 गेंदों का सामना किया। लेकिन यह पुजारा के खेल का पतन भी था क्योंकि उनकी रन बनाने से ज्यादा क्रीज टिकने को अहमियत देने की रणनीति बाद में सफल नहीं रही और अब वे फिर से वापसी का इंतजार कर रहे हैं।

बल्ला बदलने से ही किस्मत बदल जाए, एशिया कप में खास बैट के साथ खेलने के लिए तैयार कोहलीबल्ला बदलने से ही किस्मत बदल जाए, एशिया कप में खास बैट के साथ खेलने के लिए तैयार कोहली

Comments
English summary
Cheteshwar Pujara regards India win against Australia in Gabba as his favorite
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X