• search
सिद्धार्थनगर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

Siddharthnagar News: देश का पहला विद्यालय जहां इसरो की लगेगी ऑनलाइन क्लास, नासा जाने का मिलेगा मौका

सिद्धार्थनगर जिले डुमरियागंज तहसील के पूर्व माध्यमिक विद्यालय हसुडी औसानपुर के लिए एक बड़ी उपलब्धि है।यह केंद्र सरकार की क्षमता निर्माण कार्यक्रम में चयनित हुआ है। यह देश का पहला सरकारी विद्यालय होगा, जहां भारतीय अंतरिक
Google Oneindia News

सिद्धार्थनगर,4अक्टूबर: सिद्धार्थनगर जिले डुमरियागंज तहसील के पूर्व माध्यमिक विद्यालय हसुडी औसानपुर के लिए एक बड़ी उपलब्धि है।यह केंद्र सरकार की क्षमता निर्माण कार्यक्रम में चयनित हुआ है। यह देश का पहला सरकारी विद्यालय होगा, जहां भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन(इसरो) के सेवानिवृत्त वैज्ञानिक नियमित दो घंटे की ऑफलाइन व ऑनलाइन कक्षाएं चलाएंगे। इसकी तैयारियां शुरू हो गई है। विद्यालय के सात बच्चों को व्योमिका स्पेस प्राइवेट लिमिटेड के द्वारा स्पेस एजूकेशन ट्रिप के लिए इसरो अहमदाबाद ले जाया जाएगा। वहां यह बच्चे स्पेस एप्लीकेशन सेंटर पर जाकर अंतरिक्ष विज्ञान के विषय में जान सकेंगे।

isro

देश का पहला सरकारी विद्यालय
पूर्व माध्यमिक विद्यालय हंसुड़ी औसानपुर के सभी कमरे पूरी तरह वातानुकूलित हैं। विद्यालय स्मार्ट क्लास, कंप्यूटर लैब, सीसीटीवी, वाई-फाई जैसी तमाम सुविधाओं से युक्त है। ग्राम प्रधान दिलीप त्रिपाठी यहां नक्षत्रशाला बनवाने की तैयारी कर रहे थे।

दिलीप ने प्रधानमंत्री की मंशा को लक्ष्य बनाया और व्योमिका स्पेस प्राइवेट लिमिटेड के सीईओ गोविंद यादव से मिले। व्योमिका स्पेस प्राइवेट लिमिटेड वह संस्था है, जो इसरो से जुड़कर बच्चों को अंतरिक्ष विज्ञान की पढ़ाई के लिए तैयार करती है। इसरो से अन्य संस्थाएं भी जुड़ी हुई हैं, जो अलग-अलग क्षेत्रों में काम कर रही हैं। दिलीप ने गोविंद यादव को अपने विद्यालय की फोटो व बच्चों की योग्यता से जुड़ी एक वीडीओ भेजा। व्योमिका की टीम ने विद्यालय की स्थिति देखकर उसे अपने अभियान का हिस्सा बना लिया। उनकी टीम के सलाह पर दिलीप ने विद्यालय में स्पेस लैब बनाने का निर्णय लिया।

'भारत की स्पेस इंडस्ट्री में क्रांति लाने की क्षमता', PM मोदी ने IN-SPACe हेडक्वार्टर का किया उद्घाटन'भारत की स्पेस इंडस्ट्री में क्रांति लाने की क्षमता', PM मोदी ने IN-SPACe हेडक्वार्टर का किया उद्घाटन

स्पेस लैब में होगी सुविधा
स्पेस लैब में एस्ट्रोनामी प्रोजेक्ट किट, हेक्साकाप्टर ड्रोन किट, माइक्रोड्रोन, एयरक्राफ्ट किट, सोलर एंड डीप स्काई आब्जर्वेशन टेलीस्कोप, प्रज्ञान स्केल माडल ग्रोवर, सभी सैटेलाइट माडल सहित 42 संयंत्र मौजूद रहेंगे। स्पेस लैब के निर्माण पर कुल 8.26 लाख रुपये खर्च होंगे, जिसे पंचायत निधि से वहन किया जाएगा। आगामी 15 नवंबर तक लैब निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा।

Comments
English summary
Indian Space Research Organisation'isro online class ,sidharthanagar,Indian Space Research Organisation will start soon online class in siddharthnagar
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X