• search
राजस्थान न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

Rajasthan accident : दुनिया से एक साथ रुख़सत हुए 7 दोस्त, मौत से 15 मिनट पहले ही शुरू की कार चलाना

|

चूरू/सीकर। सात जिगरी दोस्त, साथ पढ़े, खेले और बड़े हुए। सातों अक्सर साथ देखे जाते थे और सभी एक साथ ही दुनिया से रुखसत हो गए। इनकी ऐसी विदाई देख जनाजे में शामिल हुआ हर कोई शख्स आंसू नहीं रोक पाया। राजस्थान में फतेहपुर-सालासर के बीच नेशनल हाइवे 58 पर चूरू जिले के गांव न्यामा और खारिया कनीराम के पास रविवार देर रात कार और ट्रोले की भिड़ंत में सातों दोस्तों की मौत हो गई। मृतकों में से पांच सीकर जिले के गांव रोलसाहबसर और दो फतेहपुर के रहने वाले थे। सोमवार को गमगीन माहौल में सभी का अंतिम संस्कार किया गया। आठवां दोस्त खुशी मोहम्मद गंभीर रूप से घायल हो गया। वह सरकारी अस्पताल में उपचाराधीन है।

BJP नेताओं के थप्पड़ मारने के बाद ट्रेंड करने लगा 'प्रिया वर्मा जिंदाबाद', जेलर भी रह चुकी हैं Priya VermaBJP नेताओं के थप्पड़ मारने के बाद ट्रेंड करने लगा 'प्रिया वर्मा जिंदाबाद', जेलर भी रह चुकी हैं Priya Verma

शादी की दावत में शामिल होने जा रहे थे

शादी की दावत में शामिल होने जा रहे थे

चूरू जिले के सालासर पुलिस थाने डॉ. महेंद्र सेन के अनुसार रविवार रात को फतेहपुर और रोलसाहबसर के आठ युवक कार में सवार होकर नागौर जिले के लाड़नूं में एक शादी समारोह में शामिल होने जा रहे थे। रास्ते में गांव न्यामा के पास कार सामने से आ रहे ट्रोले से टकरा गई, जिसमें सात युवकों की मौके पर ही मौत हो गई। सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने सड़क से क्षतिग्रस्त वाहनों को हटवाया और शवों को फतेहपुर में बारी रोड स्थित मदरसे में रखवाया। सुबह पोस्टमार्टक के बाद शव​ परिजनों को सौंपे गए।

 चूरू हादसे में इनकी हुई मौत

चूरू हादसे में इनकी हुई मौत

राजस्थान के एनएच 58 पर हुए इस भीषण हादसे में गांव रोलसाहबसर के गाजी खान, इमरान खान, इकबाल, इमरान व इस्लाम तथा फतेहपुर निवासी बाबू खान और रफीक की मौत हुई है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी ट्वीट करके इस भीषण हादसे पर दु:ख जताया है। इनका आठवां साथी खुशी मोहम्मद बच गया।

 कहीं गाड़ी ठोक दी तो खूब पिटोगे...

कहीं गाड़ी ठोक दी तो खूब पिटोगे...

पुलिस की शुरुआती जांच में सामने आया कि कार और ट्रोले की भिड़ंत से 15 मिनट पहले ही कार का ड्राइव बदला गया था। पहले कार गाजी खान चला रहा था। नेशनल हाइवे 58 आते ही गाड़ी इमरान चलाने लगा था। वह तेज गति से गाड़ी चला रहा था। उसे दोस्तों ने कहा भी था कि गाड़ी चला तो भले ही ले लेकिन धीरे-धीरे चलाना, कहीं ठोक मत देना। अगर गाड़ी कहीं ठोक दी तुझे पीटेंगे। इसके बाद भी गांधी तेज रफ्तार से कार चलाता रहा। महज 15 मिनट बाद ट्रोला दिखा तो दोस्तों ने कहा कि गाड़ी ट्रोले में घुसेगी। इस पर गांधी ने कहा कि साइड से निकाल लेंगे। साइड से दूसरी गाड़ी आने पर गाड़ी ट्रोले में घुस गई।

 हादसे का मंजर देख कांप उठी रूह

हादसे का मंजर देख कांप उठी रूह

एनएच 58 पर कार और ट्रोले में हादसा रात करीब 11 बजे हुआ। घटनास्थल के नजदीक ही एक होटल है। हादसे के बाद वह मौके पर पहुंचा। चकनाचूर गाड़ी और सड़क पर पड़े देख उसकी रूह कांप उठी। उसने चूरू पुलिस कट्रोल रूम पर सूचना दी। फिर सालासर थानाधिकारी डॉ. महेंद्र सेन जाप्ते के साथ मौके पर पहुंचे। कार में सवार युवकों में से एक मात्र जिंदा बचे घायल खुशी खां को सालासर अस्पताल पहुंचाया। प्राथमिक उपचार के बाद चिकित्सकों ने उसको सीकर रैफर कर दिया।

English summary
Seven Friends Killed in Road accident on NH 58 in Churu Rajasthan
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X