• search
राजस्थान न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

अजमेर दरगाह के पास अंधाधुंध फायरिंग करने वाले आरोपियों ने किया सरेंडर

|

अजमेर। अजमेर स्थित ख्वाजा साहब की दरगाह के पास जमीनी विवाद को लेकर मासूम पर फायरिंग करने वाले बदमाशों ने सोमवार को दरगाह थाने में सरेंडर कर दिया। फायरिंग के तीनों आरोपियों से पुलिस पूछताछ में जुटी हुई है। आरोपियों से वारदात में प्रयुक्त बंदूक बरामद करने का पुलिस प्रयास कर रही है।

accused of firing near ajmer dargaah has been arrested

दरगाह थानाधिकारी कैलाश बिश्नोई ने बताया कि गत 25 सितम्बर की रात्रि में जमीनी विवाद को लेकर नदीम उल हसन सहित उसके साथियों ने अंधाधुंध फायरिंग की थी। एक गोली 15वर्षीय फरदीन को भी लगी थी। फरदीन को जेएलएन अस्पताल ले जाया गया जहां से उसे उपचार के लिए जयपुर के एसएमएस अस्पताल रैफर कर दिया गया। उन्होंने कहा कि आरोपियों की धरपकड़ के लिए संभावित ठिकानों पर दबिश दी जा रही थी। बदमाशों के परिजनों पर भी दबाव डाला गया। इसके चलते बदमाश स्वयं ही थाने चलकर आ गए। बदमाशों ने कलकत्ता में फरारी काटने की बात कबूली है। आज मुख्य आरोपी नदीम उल हसन, सैयद ईनाम अहमद और रूकनुद्दीन को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं 9 आरोपी फिलहाल फरार है, उनकी भी तलाश की जा रही है। थानाधिकारी बिश्नोई ने बताया कि मुख्य आरोपी नदीम उल हसन के खिलाफ पूर्व में भी कई आपराधिक मुकदमे दर्ज है।

घायल की हालत स्थिर

बताया जा रहा है कि फायरिंग में घायल होने वाले फरदीन चिश्ती की हालत अभी भी स्थिर बनी हुई है। चिकित्सक लगातार उसे उपचार दे रहे हैं लेकिन स्थिति में सुधार नहीं हो रहा है। इससे परिजन सदमे में है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
accused of firing near ajmer dargaah has been arrested
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X