ICJ के जाधव पर आए फैसले को पाकिस्‍तान ने मानने से साफ इनकार किया

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

इस्‍लामाबाद। इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (आईसीजे) की ओर से गुरुवार को कुलभूषण जाधव के मौत की सजा पर रोक लगा दी गई है। इस फैसले पर पाकिस्‍तान की ओर से भी प्रतिक्रिया आ गई है और पाक ने इस फैसले को मानने से साफ इनकार कर दिया है। पाकिस्‍तान विदेश मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि कोई भी संस्‍था देश की सुरक्षा से बड़ी नहीं हो सकती है।

ICJ के जाधव पर आए फैसले को पाकिस्‍तान ने मानने से साफ इनकार किया

भारत पर मढ़ा आरोप

पाक विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता नफीस जकारिया ने कहा कि आईसीजे के अधिकार को चुनौती देने का फैसला सभी संस्‍थाओं और एजेंसियों से सलाह लेने के बाद किया गया है। जकारिया ने भारत पर आरोप लगा दिया कि उसने पाकिस्‍तान के उस अनुरोध को मानने से इनकार कर दिया जिसमें कहा गया था कि पाक को जाधव के साथी के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई। साथ ही जकारिया ने उस द्विपक्षीय करार के बारे में भी बात की जो वर्ष 2008 से भारत और पाक के बीच मौजूद है। जकारिया ने कहा कि इस करार के आर्टिकल छह के तहत काउंसलर एक्‍सेस का मसला सिर्फ केस की योग्‍यता पर निर्भर करता है।

भारत दे रहा आतंकवाद को बढ़ावा

जकारिया की मानें तो भारत, जाधव के मसले को मानवाधिकार का रंग देने की कोशिशें कर रहा है और दुनिया का ध्‍यान इस बात से बटाना चाहता है कि वह पाक में आतंकी गतिविधियों को बढ़ावा दे रहा है। जकारिया ने तो यहां तक कह डाला कि रॉ के जासूस पर पाक का रुख पहले की ही तरह है। उन्‍होंने कहा कि यह पूरी तरह से देश की सुरक्षा का मामला है और इस पर कोई भी समझौता नहीं होगा। उन्‍होंने जानकारी दी कि पाकिस्‍तान ने विएना कनवेंशन के आर्टिकल 36 के तहत अपना जवाब इस मसले पर दिया था।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Pakistan rejects ICJ verdict on Kulbhushan Jadhav.
Please Wait while comments are loading...