• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Howdy Modi: कश्‍मीर पर पाकिस्‍तान के पीएम इमरान खान का एजेंडा अमेरिका में बना फ्लॉप शो

|

न्‍यूयॉर्क। रविवार को अमेरिका के टेक्‍सास राज्‍य के ह्यूस्‍टन शहर में आयोजित 'हाऊडी मोदी!! शेयर्ड ड्रीम्‍स, ब्राइट फ्यूचर्स,' कार्यक्रम के बाद पाकिस्‍तान और इसके प्रधानमंत्री इमरान खान के माथे पर बल पड़ गए हैं। इमरान जो पिछले कुछ समय से कश्‍मीर के मुद्दे को हर अंतरराष्‍ट्रीय मंच से उठाने की बात कह रहे थे, ह्यूस्‍टन ने उनके सपनों को चकनाचूर कर दिया। यहां पर अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक मंच पर आए, दोनों नेताओं ने पाकिस्‍तान का जिक्र तक नहीं किया। मगर आतंकवाद और कश्‍मीर के बहाने, पाक को आड़े हाथों लिया। इमरान, अमेरिका पहुंचे हैं और जब अगले कुछ दिनों में यूनाइटेड नेशंस जनरल एसेंबली (उंगा) में उनका संबोधन होगा तो वह जरूर कश्‍मीर का मसला उठाएंगे, लेकिन अब उनकी कौन सुनेगा, यह कह पाना मुश्किल है।

ट्रंप ने जिक्र तक नहीं किया

ट्रंप ने जिक्र तक नहीं किया

हाउडी मोदी कार्यक्रम में, राष्‍ट्रपति 30 मिनट तक मंच पर मौजूद थे। मध्‍यस्‍थता की बात करने वाले डोनाल्‍ड ट्रंप इस कार्यक्रम में कश्‍मीर मसले का जिक्र करने से बचे। ट्रंप ने कश्‍मीर पर कोई बात नहीं की लेकिन साफतौर पर कहा कि अमेरिका की तरह भारत का भी अधिकार है कि वह अपने बॉर्डर की सुरक्षा करे। ट्रंप के शब्‍दों में, 'भारत और अमेरिका दोनों ही इस बात को समझते हैं कि हमें अपने समुदायों को सुरक्षित रखना है और हमें अपने बॉर्डर की सुरक्षा हर हाल में करनी है।' ट्रंप की यह टिप्‍पणी इसलिए भी और ज्‍यादा खास हो जाती है क्‍योंकि भारत ने पांच अगस्‍त को जम्‍मू कश्‍मीर से आर्टिकल 370 को हटाया है। इसके बाद से ही पाकिस्‍तान लगातार इस मसले का जिक्र हर जगह करता आ रहा है। वहीं भारत की ओर से बार-बार दोहराया जा रहा है कि जम्‍मू कश्‍मीर एक आतंरिक मसला है।

अपना देश न संभाल पाने वालों को भी तकलीफ

अपना देश न संभाल पाने वालों को भी तकलीफ

पीएम मोदी ने ह्यूस्‍टन में करीब 50 मिनट तक भाषण दिया। यहां पर नाम लिए बिना पीएम मोदी ने पाक को कड़ा संदेश दिया। पीएम मोदी ने कहा, 'नए भारत ने अब आर्टिकल 370 की विदाई कर दी है। इस आर्टिकल ने जम्‍मू कश्‍मीर के लोगों को विकास और समान अधिकार से दूर रखा था। सुरक्षाबल आतंकवाद को खत्‍म करने में लगे हुए हैं और आतंकवाद की वजह से हालात बिगड़ते गए।' इसके बाद पीएम मोदी ने कहा, 'अपनी सीमाओं में रहकर भारत ने जो फैसला लिया है, उससे उन लोगों को भी तकलीफ हो रही है जिनसे अपना देश नहीं संभल पा रहा है। इन लोगों ने भारत के खिलाफ नफरत को ही अपना राजनीतिक एजेंडा बना लिया है।'

पाकिस्‍तान में पनपता आतंकवाद चिंता का विषय

पाकिस्‍तान में पनपता आतंकवाद चिंता का विषय

अपने भाषण में डोनाल्‍ड ट्रंप ने पाकिस्‍तान में पनप रहे आतंकवाद का मसला भी उठाया। उन्‍होंने कहा, कहा, 'अमेरिका मासूम भारतीय-अमेरिकियों को चरमपंथी इस्‍लामिक आतंकवाद से बचाने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है।' ट्रंप ने जैसे ही यह बात कही स्‍टेडियम में मौजूद 50,000 भारतीयों और पीएम मोदी ने उनके लिए खड़े होकर तालियां बजाईं। विशेषज्ञों की मानें तो ट्रंप के इस बयान के बाद इस बात की तरफ इशारा मिलता है कि पाकिस्तान में पनपने वाला आतंकवाद विदेशों में बसे भारतीयों के बीच भी चिंता का विषय बना हुआ है।

EU के बाद अब UNGA में मुंह की खाएंगे इमरान

EU के बाद अब UNGA में मुंह की खाएंगे इमरान

जिस तरह से पीएम मोदी और ट्रंप ने रविवार को एक के बाद एक आतंकवाद और कश्‍मीर का जिक्र अपने अंदाज में किया है, उससे इमरान जो होमवर्क करके आए थे, वह पूरी तरह से बर्बाद हो गया है। इमरान जो पहले ही कश्‍मीर मसले पर यूरोपियन यूनियन और तमाम देशों से न सुन चुके हैं, अब उंगा में भी वह इस मसले को उठाएंगे इतना तय है। हालांकि यह बात भी काफी दिलचस्‍प है कि उनकी बातों को कौन गौर से सुनेगा, इस बात का एक इशारा अब तक मिल चुका है। यहां आपको बता दें कि जिस समय ह्यूस्‍टन में मोदी और ट्रंप मेगा इवेंट में शामिल हो रहे थे, इमरान उस समय कश्‍मीर स्‍टडी ग्रुप की मीटिंग में हिस्‍सा ले रहे थे।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Howdy Modi: How Pakistan's PM Imran Khan's Kashmir agenda now a flop show.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X