रिश्‍वत लेते दिल्‍ली की महिला जज को CBI ने किया गिरफ्तार, 94 लाख रुपए बरामद

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने तीस हजारी कोर्ट के महिला जज को उसके पति और एक अन्‍य वकील के साथ रिश्‍वतखोरी के आरोप में गिरफ्तार किया है। महिला जज पर आरोप है कि उन्‍होंने एक केस में शिकायतकर्ता के पक्ष में फैसला सुनाने के लिए 20 लाख रुपए की मांग की थी।

यह रिश्‍वत वकील के माध्‍यम से जज तक पहुंचना था। अदालत ने महिला जज को फिलहाल 14 दिनों की न्‍यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। जानकारी के मुताबिक जज का नाम रचना तिवारी लखनपाल है। वो तीस हजारी कोर्ट में सीनियर सिविल जज (वेस्‍ट) हैं। सीबीआई ने गुलाबी बाग स्थित उनके आवास पर एक वकील से कथित तौर पर चार लाख रुपए रिश्वत के तौर पर लेते हुए गिरफ्तार किया।

जानिए क्‍या होता है सर्जिकल स्‍ट्राइक जिसे इंडियन आर्मी ने PoK में दिया अंजाम

पुलिस ने जब छापेमारी की तो रचना के घर से रिश्‍वत के चार लाख रुपए मिले जिसपर उनके फिंगर प्रिंट्स भी थे। सीबीआई के प्रवक्ता आरके गौड़ ने बताया कि जज के यहां से 94 लाख रुपए भी जब्त किए गए हैं। शिकायत में आरोप लगाया गया कि दिल्ली के तीस हजारी अदालत की वरिष्ठ सिविल न्यायाधीश (पश्चिम) ने एक विवादित संपत्ति की जांच के लिए उन्हें स्थानीय आयुक्त बनाया था जिसकी उन्हें रिपोर्ट सौंपनी थी। उन्होंने कहा कि शिकायतकर्ता के पक्ष में फैसला देने के लिए वकील (स्थानीय आयुक्त के तौर पर नियुक्त) ने कथित तौर पर खुद के लिए दो लाख रुपए की रिश्वत और वरिष्ठ सिविल न्यायाधीश के लिए 20 लाख रुपए की रिश्वत मांगी थी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
CBI on Thursday arrested a female senior civil judge of Tis Hazari courts while allegedly receiving a bribe from an advocate who was appointed by her as local commissioner in a case adjudicated by her and recovered Rs 94 lakhs cash from her residence during searches.
Please Wait while comments are loading...