• search
मुजफ्फरनगर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

पुलिस की दबिश के बाद व्यक्ति की मौत पर हंगामा, कोतवाल सहित 10 पुलिसकर्मियों के खिलाफ केस दर्ज

|

Muzaffarnagar news, मुजफ्फरनगर। यूपी के मुजफ्फनगर में उस वक्त हंगामा खड़ा हो गया जब पुलिस एक युवक को गिरफ्तार उसके घर पहुंची। आरोप है कि पुलिस ने युवक और उसके परिजनों से मारपीट की, जिसके बाद युवक के पिता की मौत हो गई। खबर फैलाते ही लोगों की भीड़ लग गई। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस को ग्रामीणों का विरोध झेलना पड़ा। ग्रामीणों ने दबिश देने वाले पुलिस कर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की मांग करते हुए मृतक के शव को उठने से मना कर दिया। देखते-देखते मुजफ्फरनगर से सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. संजीव बालियान सहित सपा, बसपा, रालोद और कांग्रेस के नेता इकट्ठा हो गए।

युवक को गिरफ्तार कर थाले ले गई पुलिस

युवक को गिरफ्तार कर थाले ले गई पुलिस

दरअसल, मामला थाना नई मंडी कोतवाली क्षेत्र के गांव मखियाली का है, जहां देर रात गांधी नगर पुलिस चौकी इंचार्ज अजय कुमार कई पुलिसकर्मियों को साथ लेकर गांव में मोनू पुत्र मदन पाल को गिरफ्तार करने पहुंचे। आरोप है कि मोनू पुत्र मदन पाल पर थाना नई मंडी में कई मुकदमे दर्ज हैं, जिसमें हाल ही में वह जिला बदर अपराधियों की श्रेणी में है। रात में पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया और थाने ले आई, लेकिन कुछ ही देर बाद मोनू के पिता मदन पाल की अचानक मौत हो गई, जिसके बाद गांव में हंगामा खड़ा हो गया।

पुलिस पर मारपीट, गाली-गलौच का आरोप

पुलिस पर मारपीट, गाली-गलौच का आरोप

मृतक के परिजनों का आरोप है कि रात में पुलिस ने उनके घर में जमकर तांडव किया, मारपीट की और मोनू को गिरफ्तार करके ले गई। इसके बाद मोनू के पिता मदन पाल की मौत हो गई। दिन निकलते ही यह खबर गांव में आग की तरफ फैल गई और लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई। वहीं, घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस को भी ग्रामीणों के विरोध झेलना पड़ा। ग्रामीणों ने आरोपी पुलिस कर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग करते हुए सब उठाने से मना कर दिया। देखते ही देखते गांव राजनीति का अखाड़ा बनता चला गया।

ये भी पढ़ें: आशिक मिजाज टीचर को छात्रा ने पहनाई जूतों की माला, सड़क पर पीटा

10 पुलिसकर्मियों के खिलाफ केस दर्ज

10 पुलिसकर्मियों के खिलाफ केस दर्ज

मौके पर सपा, बसपा, रालोद, कांग्रेस के नेताओं के साथ-साथ भाजपा के मुजफ्फरनगर से सांसद व पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. संजीव बालियान भी मौके पर पहुंच गए। इसके अलावा पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। कई घंटों की मशक्कत के बाद थाना प्रभारी नई मंडी संतोष सिंह चौहान गांधी नगर पुलिस चौकी इंचार्ज अजय कुमार सहित कई पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज होने के बाद ग्रामीणों ने मृतक मदन पाल के शव को उठने दिया। इसके बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया और छानबीन शुरू कर दी। एसपी सिटी सतपाल अंतिल ने बताया कि पूरे मामले की छानबीन की जा रही है। जांच में जो भी तथ्य सामने आएंगे उसी आधार पर कार्रवाई की जाएगी। पुलिस ने इस मामले में नईं मंडी कोतवाली निरीक्षक संतोष कुमार, दरोगा अजय कुमार, हेड कांस्टेबल रतन सिंह सहित 8-9 अज्ञात के खिलाफ मारपीट, गाली गलौच, जान से मारने की धमकी, गैर इरादतन हत्या जैसी गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

ये भी पढ़ें: 8 मार्च को वाराणसी आएंगे पीएम मोदी, अपने ड्रीम प्रोजेक्ट काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का करेंगे भूमि पूजन

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
fir against 10 policeman over one man death in muzaffarnagar
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X