आखिर क्यों पिछले एक हफ्ते से लखनऊ में लोगों के घर नहीं पहुंच रहा अखबार

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। पिछले एक हफ्ते से लखनऊ में लोगों की सुबह बिना न्यूज़ पेपर के हो रही है। लोग जगते ही जहां न्यूज पेपर की ओर दौड़ते थे वह पिछले कई दिनों से निराशा में तब्दील हो गयी है। लखनऊ में न्यूज़ पेपर हॉकरों की हड़ताल के चलते लोगों के घरों में पेपर नहीं पहुंच रहा है।

ऑनलाइन शॉपिंग- Varideal का कारनामा, मंगाया अमरूद भेज दिया आम

Why lucknow people are not getting news paper from many days

1 सितंबर से नहीं पहुंचा है अखबार

न्यूज़ पेपर हॉकर कमीशन में बढ़ोत्तरी की मांग को लेकर एक हफ्ते से हड़ताल पर हैं और शहर में लोगों के घर अखबार नहीं पहुंच रहा है जिसके चलते अखबार के संस्थान को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है। हॉकरों की यह हड़ताल एक सितंबर से चल रही है जिसके चलते किसी के भी घर अखबार नहीं पहुंच रहा है।

थानों पर बंट रहे हैं अखबार

हॉकरों की हड़ताल को देखते हुए अखबार के संस्थानों ने पुलिस थाने के बाहर अखबार बंटवाना भी शुरु कर दिया है। ऐसा इसलिए किया जा रहा है क्योंकि हॉकर अन्य किसी भी व्यक्ति को पेपर बांटने नहीं दे रहे हैं। जिसके चलते अखबार मालिकों ने पुलिस से गुजारिश की है कि उन्हें थानों से अखबार बांटने दिया जाए।

क्या है हॉकरों की मांग

हॉकर एसोसिएशन यह मांग कर रहा है कि कि उसे मिलने वाले कमीशन में बढ़ोत्तरी की जाए और इसे बढ़ाकर डेढ़ रुपए प्रति कॉपी कि जाए, जिसे अखबार संस्थान मानने को तैयार नहीं हैं। हालांकि कई दौर की बातचीत के बाद भी जब अखबार संस्थान राजी नहीं हुए तो हॉकर एसोसिएशन ने इस मांग को 40 फीसदी से घटाकर 35 फीसदी तक कर दिया है। लेकिन अभी भी इस पर अखबार संस्थान राजी नहीं हैं।

NGT ने लगायी अखिलेश सरकार को फटकार, लोगों के जीवन की आपको कद्र नहीं

वहीं इस हड़ताल पर हॉकर एसोसिएशन का कहना है कि अखबार मालिकों ने कई सालों से अखबार की कीमतों में इजाफा नहीं किया है और हमें उसी कीमत पर कमीशन दिया जा रहा है जिसके चलते हमें काफी सालों पुराना कमीशन मिल रहा है। यही नहीं हॉकर एसोसिएशन का कहना है कि कई संस्थानों ने अखबार की कीमत में कमी की है जिसके चलते हमें और नुकसान हो रहा है। लेकिन तमाम बातचीत के दौर के बाद भी कोई स्थाई समाधान नहीं मिल सका है।

मुलायम सिंह यादव मध्यस्थता के लिए आए आगे

वहीं अखबार मालिकों व हॉकरों के बीच तनातनी को खत्म करने के लिए सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव आगे आए हैं और उन्होंने भरोसा दिया है कि वह खुद इस मामले में मध्यस्थता करेंगे ताकि इस मुद्दे का कोई हल निकल सके। वहीं दूसरी ओर हॉकर एसोसिएशन ने धमकी दी है कि अगर उसकी मांगों को नहीं माना गया तो यह हड़ताल प्रदेशव्यापी हो जाएगी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Why lucknow people are not getting news paper from many days. Strike of news paper association for commission is the core issue.
Please Wait while comments are loading...