• search
लखनऊ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

UP Panchayat Elections: 880 सीटों पर इस बार नहीं होगा ग्राम प्रधान का चुनाव, यह है वजह

|

UP Panchayat Elections 2021, लखनऊ। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव 2021 को लेकर उत्तर प्रदेश में तैयारियां जोरो पर है। तो वहीं, पंचायत चुनाव को लेकर शासन आज आरक्षण नीति जारी कर सकता है। खबर यह भी सामने आ रही है कि पंचायत चुनाव में इस बार 880 पद कम हो गई हैं। दरअसल, साल 2015 में हुए पंचायत चुनाव में प्रदेश में कुल 59074 ग्राम प्रधानों के पद पर चुनाव हुए थे। मगर इस बार हुए परिसीमन के बाद 58194 ग्राम प्रधानों के पद पर ही चुनाव होंगे।

UP Panchayat Elections: This time there will be no election of Gram Pradhan for 880 seats

इस वजह से कम हुए 880 पद

मीडिया खबरों के मुताबिक, साल 2015 में हुए पंचायत चुनाव में प्रदेश में कुल 59074 ग्राम प्रधानों के पद पर चुनाव हुए थे मगर इस बार हुए संक्षिप्त परिसीमन में 880 ग्राम पंचायतें शहरी क्षेत्र में शामिल कर लिये जाने की वजह से अब इस दफा प्रदेश में होने जा रहे पंचायत चुनाव में कुल 58194 ग्राम प्रधानों के पद पर ही चुनाव होंगे। ग्राम पंचायतों की संख्या कम होने के साथ ही ग्राम पंचायतों के वार्ड भी कम हो गये हैं। 2015 के पंचायत चुनाव में प्रदेश में कुल 744558 ग्राम पंचायत सदस्यों के पद पर चुनाव हुए थे जबकि इस बार 731813 ग्राम पंचायत सदस्यों के पद पर ही चुनाव होंगे।

पंचायतीराज निदेशालय ने राज्य निर्वाचन आयोग को सौंपा आंकड़ा

यह सारे आंकड़े उस रिपोर्ट के हैं जो प्रदेश में होने जा रहे त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव की तैयारियों के तहत पंचायतीराज निदेशालय ने सोमवार को राज्य निर्वाचन आयोग को सौंपे। बताते चलें कि प्रदेश के 71 जिलों में इस बार संक्षिप्त परिसीमन हुआ जबकि गोण्डा, सम्भल, मुरादाबाद, गौतमबुद्धनगर में पूर्ण परिसीमन करवाया गया, क्योंकि 2015 के पंचायत चुनाव में कानूनी अड़चनों की वजह से इन चार जिलों में परिसीमन नहीं करवाया जा सका था।

आजमगढ़ में सर्वाधिक ग्राम पंचायत

इन नये आंकड़ों के अनुसार प्रदेश में सर्वाधिक 1858 ग्राम पंचायतों वाला जिला आजमगढ़ है, 2015 में इस जिले में कुल 1872 ग्राम पंचायतें थीं। दूसरे नम्बर पर सबसे ज्यादा ग्राम पंचायतें जौनपुर में 1740 हैं, 2015 के चुनाव में यहां 1773 पंचायतें थीं। प्रदेश में जिला पंचायत सदस्यों के पद भी कम हो गये हैं। 2015 के चुनाव में प्रदेश की कुल 75 जिला पंचायतों में 3120 वार्ड थे जबकि इस बार इनमें 69 वार्ड कम हो गये हैं, इस तरह से इस बार के चुनाव में कुल 3052 जिला पंचायत सदस्यों के पदों पर ही चुनाव होगा।

ये भी पढ़ें:- मिर्जापुर: रामगया घाट पर यात्रियों से भरी नाव गंगा में पलटी, 18 लोग थे सवार

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
UP Panchayat Elections: This time there will be no election of Gram Pradhan for 880 seats
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X