• search
कासगंज न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

Priyanka Kumari: छोटे से कस्बे की लड़की की बड़ी कामयाबी, दवा व्यापारी की बेटी प्रियंका SDM बनकर ही मानीं

|

Priyanka Kumari Goyal kasganj clear pcs 2019 exam: कासगंज। कासगंज की रहने वाली प्रियंका कुमारी गोयल ने उत्तर प्रदेश पीसीएस 2019 की परीक्षा में 5वां स्‍थान प्राप्‍त कर अपने परिजनों और जिले का नाम रोशन किया है। ब‍िटिया के एसडीएम बनने की खुशी पर पूरे कस्‍बे में जश्‍न का माहौल है। घर पर बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है। प्रियंका ने अपनी इस सफलता का श्रेय माता-पिता और गुरुजनों को दिया है। प्रियंका का कहना है कि ईमानदारी के साथ परिश्रम करने वाले को निश्‍चित ही सफलता प्राप्‍त होती है। उन्‍होंने कहा कि यही सफलता का मूल मंत्र भी है।

पांचवें स्‍थान पर रही हैं प्रि‍यंका कुमारी गोयल

पांचवें स्‍थान पर रही हैं प्रि‍यंका कुमारी गोयल

बता दें, उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने पीसीएस 2019 के तहत 453 पद की भर्ती निकाली थी। 388 पद के लिए 28 जनवरी से 4 फरवरी तक इंटरव्‍यू आयोजित किया गया था। इंटरव्‍यू के लिए 811 अभ्यर्थी सफल हुए थे, जबकि सात दिन हुए इंटरव्‍यू में 808 अभ्यर्थी शामिल हुए थे। बुधवार को पीसीएस 2019 का फाइनल रिजल्‍ट घोषित कर दिया गया। मथुरा के विशाल सारस्वत ने पीसीएस परीक्षा 2019 में पहला स्थान प्राप्त किया। दूसरे स्‍थान पर प्रयागराज के नैनी के युगांतर त्रिपाठी तो वहीं तीसरे स्थान पर राजधानी लखनऊ की पूनम गौतम रही हैं। चौथे स्‍थान पर मुजफ्फरपुर ब‍िहार के कुणाल गौरव और पांचवें स्‍थान पर कांशीराम नगर (कासगंज) की प्रियंका कुमारी गोयल रही हैं।

प्रि‍यंका ने बताया क्‍या है सफल होने का मंत्र?

प्रि‍यंका ने बताया क्‍या है सफल होने का मंत्र?

प्रियंका का घर कासगंज के अमांपुर कस्बे के शास्त्री नगर में है। पिता का नाम अनिल कुमार गोयल है, जो कैमिस्ट व्यापारी हैं। बेटी की सफलता पर माता-पिता सहित पूरा परिवार गदगद है। बिटिया के इस उपलब्धि से कस्बे के लोग भी बेहद खुश हैं। प्रि‍यंका ने अभ्‍यर्थियों को सफलता का मंत्र देते हुए कहा कि ईमानदारी के साथ परिश्रम करने वाले को निश्चित रूप से सफलता हास‍िल होती है, इसलिए लगन से पढ़ाई करें।

मथुरा के व‍िशाल ने किया टॉप

मथुरा के व‍िशाल ने किया टॉप

बता दें, मथुरा के विशाल सारस्वत ने पीसीएस परीक्षा 2019 में टॉप किया है। वि‍शाल बेहद साधारण परिवार से हैं। उनके पिता पुजारी हैं और पांडित्य कर्म कराते हैं। विशाल अपनी सफलता के लिए दादी समेत पूरे परिवार को श्रेय देते हैं। वह कहते हैं कि शिक्षा और स्वास्थ्य उनकी प्राथमिकता में हमेशा रहेंगी। विशाल बचपन से ही अफसर बनना चाहते थे। व‍िशाल ने अपने दूसरे अटेम्‍पट में ही ये परीक्षा पास की है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Priyanka Kumari Goyal kasganj clear pcs 2019 exam
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X