• search
जोधपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

कोरोना पॉजिटिव इंजीनियर युवती की कहानी-बताया कैसे चाहकर भी खुद को नहीं बचा पाई

|
Google Oneindia News

जोधपुर। दुनियाभर में फैल रहे कोरोना वायरस को अब भी कई लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। जो लोग सोचते हैं कि कोरोना उन्हें नहीं हो सकता और वो आईटी इंजीनियर युवती की घटना से सबक ले सकते हैं। मुंबई से जोधपुर तक के लिए ट्रेन में सफर करने वाली यह इंजीनियर युवती चाहकर भी खुद को कोरोना से संक्रमित होने से नहीं बचा पाई। इसके साथ हुई घटना से यही सीख मिलती है कि कोरोना से बचने के लिए सोशल डिस्टेंस कितनी जरूरी है। घर पर रहकर ही खुद को कोरोना से बचाया जा सकता है।

ट्रेन में सवार होकर मुम्बई से आई जोधपुर

ट्रेन में सवार होकर मुम्बई से आई जोधपुर

बुधवार को राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव के चार नए मामले में सामने आए हैं। इनमें जोधपुर की 24 वर्षीय इंजीनियर भी शामिल है। बता दें कि जोधपुर की युवती मुम्बई में बतौर आईटी इंजीनियर काम करती है। मुम्बई में कोरोना का संक्रमण बढ़ने पर परिजनों ने युवती को फोन करके घर जोधपुर बुलाया। युवती ने बताया कि वह 17 मार्च को मुम्बई से ट्रेन में जोधपुर के लिए रवाना हुई। ट्रेन में फर्स्ट क्लास कोच में उसके साथ जोधपुर के ही पति-पत्नी थे। दोनों तुर्की से आए थे। युवती की बर्थ ऊपर थी। ट्रेन में सवार होने के बाद एहतियत के तौर पर उसने अपने साथ सफर कर रहे यात्रियों से कोई बात नहीं की।

 सोशल डिस्टेंस नहीं रखने पर हुई

सोशल डिस्टेंस नहीं रखने पर हुई

सीधे अपनी बर्थ पर जाकर लेट गई। पूरे रास्ते में वह सिर्फ बाथरूम में जाने के लिए नीचे उतरी। बाथरूम से लौटने पर हर बार उसने अपने हाथ सैनेटाइज किए। साथ ही पूरी यात्रा के दौरान उसने चेहरे पर मास्क भी लगा रखा था। उसे याद नहीं कि वह किस तरह संक्रमित हुई। युवती ने बताया कि अपनी बर्थ पर चढ़ने और उतरने के दौरान हो सकता है कि वह संक्रमण की चपेट में आ गई हो या फिर सहयात्रियों के खांसने के कारण कोरोना वायरस उस तक पहुंचा हो। 18 मार्च को जोधपुर पहुंचने के बाद से लेकर 23 मार्च तक वह स्वस्थ थी।

 छह दिन बाद पता चला कोरोना पॉजिटिव

छह दिन बाद पता चला कोरोना पॉजिटिव

23 मार्च को उसे हल्के बुखार के साथ खांसी की शिकायत हुई। इस बीच तुर्की से आए सहयात्री, जिन्होंने ट्रेन में उसके साथ सफर किया था वह पॉजिटिव पाए गए। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने ट्रैवल हिस्ट्री के आधार पर 23 मार्च को युवती को घर में आइसोलेट कर दिया। 24 मार्च को तबीयत बिगड़ने पर वह जांच के लिए एम्स पहुंची। बुधवार सुबह आई रिपोर्ट में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। फिलहाल युवती एम्स में भर्ती है और उसका इलाज चल रहा है। उसकी हालत स्थिर बताई जा रही है।

राजस्थान : कोरोना के 4 नए मामले सामने आए, भीलवाड़ा के दो चिकित्साकर्मी की रिपोर्ट भी पॉजिटिवराजस्थान : कोरोना के 4 नए मामले सामने आए, भीलवाड़ा के दो चिकित्साकर्मी की रिपोर्ट भी पॉजिटिव

English summary
Story of corona positive Jodhpur engineer Girl
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X