India
  • search
जबलपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

एक ट्रक ‘पानी वाले नारियल डकार गया ठग’, उसके बाद क्या हुआ जानिए पूरा सच

|
Google Oneindia News

जबलपुर, 03 जुलाई: ठगों की दुनिया में एक से बढ़कर एक ठग है। अपना उल्लू सीधा करने ठगी का रास्ता ढूंढ ही लेते है। इस बार शातिर ठग ने जबलपुर के फ्रूट कारोबारी को चूना लगाया है। कर्नाटक के एक शख्स ने एक ट्रक पानी वाले नारियल भेजने का वादा कर लाखों रुपए अकाउंट में जमा करवा लिए, लेकिन ऑर्डर के पानी वाले नारियल नहीं मिले। फ्रूट विक्रेता की शिकायत पर पुलिस ने ठगबाज के खिलाफ FIR दर्ज कर की है।

साल भर में नही आ पाए ‘पानी वाले नारियल’

साल भर में नही आ पाए ‘पानी वाले नारियल’

मप्र के जबलपुर के रहने वाले मोहम्मद शकील कृषि उपज मंडी में बबलू भाई एंड कंपनी का संचालन करते है। फलों का थोक कारोबार करने वाले शकील देश के अलग-अलग हिस्सों से फल बुलाते है। उनकी कर्नाटक के केजीएन फ्रूट कंपनी देवनागरी के संचालक मोहम्मद मुबारक से 'पानी वाले नारियल' के सिलसिले में बातचीत हुई थी। दूसरी जगहों के मुकाबले यहाँ सौदा सस्ता होने की वजह से शकील ने मोहम्मद मुबारक को एक ट्रक 'पानी वाले नारियल' का ऑर्डर कर दिया। मई महीने में किए गए ऑर्डर की खेप जुलाई तक नहीं पहुंची और ऑर्डर की पूरी रकम एडवांस में ले ली गई।

ठगबाज का मोबाइल बंद, FIR दर्ज

ठगबाज का मोबाइल बंद, FIR दर्ज

पीड़ित बबलू भाई एंड कंपनी के संचालक मोहम्मद शकील के मुताबिक उन्होंने 16 मई 2021 को एक ट्रक नारियल का ऑर्डर किया था। अपने आप को कर्नाटक में केजीएन फ्रूट कंपनी देवनागरी का संचालक बताने वाले मोहम्मद मुबारक ने कुछ दिनों में ऑर्डर का माल जबलपुर भिजवाने का वादा किया था। एक महीना गुजरने के बाद जब नारियल भरा ट्रक नही पहुंचा, तो पीड़ित ने दोबारा मुबारक से संपर्क किया। मुबारक ने मौसम ख़राब होने का हवाला देकर जल्द ही नारियल पहुँचाने का भरोसा दिलाया, फिर उसके बाद उसने अपना मोबाइल बंद कर लिया। साल भर बाद भी जब ठग का कोई सुराग नही लगा तो अब उसके खिलाफ पुलिस में FIR दर्ज कराई गई है।

3 लाख 20 हजार की लगी चपत

3 लाख 20 हजार की लगी चपत

पुलिस में दर्ज FIR के मुताबिक पीड़ित ने एक ट्रक नारियल के लिए कुल तीन लाख बीस हजार रुपए ऑनलाइन पेमेंट किया था। तीन किश्तों में पूरा पेमेंट करने के बाद शकील नारियल भरे ट्रक आने का रास्ता देखता रहा। साल भर गुजर गया, न तो उसके पानी वाले नारियल आए और न ही उसके एवज में जमा की हुई लाखों की रकम वापस मिली। आरोपी मोहम्मद मुबारक भी चंपत है। जिसकी तलाश में पुलिस जुटी है। जिस मोबाइल नंबर पर शकील ने बात की थी, उसकी कॉल डिटेल भी निकलवाई जा रही है।

गर्मी में नारियल की रहती है डिमांड

गर्मी में नारियल की रहती है डिमांड

साउथ में 'पानी वाले नारियल' का बड़ी तादात में उत्पादन होता है। देश भर में दक्षिण प्रांत से ही इन नारियलों की सप्लाई होती है। खासकर गर्मी के सीजन में इसकी डिमांड आम दिनों के मुकाबले दो गुनी हो जाती है। जरुरत और कारोबार के हिसाब से ही पीड़ित शकील ने मोहम्मद मुबारक से संपर्क साधा था। लेकिन उसे इस बात का जरा भी इल्म नही रहा कि नारियलों की कम कीमत के चक्कर में उसको यह सौदा महंगा साबित होगा।

ये भी पढ़े-'सब्सिडी पर जानवर' इस प्रदेश में 'काउ Lovers' की बल्ले-बल्ले, जानिए आपको फायदा मिलेगा या नहीये भी पढ़े-'सब्सिडी पर जानवर' इस प्रदेश में 'काउ Lovers' की बल्ले-बल्ले, जानिए आपको फायदा मिलेगा या नही

Comments
English summary
A truck stung 'water coconut ruffian', what happened after that know the whole truth
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X