• search

अपनी ही राइफ़ल के ख़िलाफ़ क्यों हैं अमरीकी?

Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts
    फ्लोरिडा में स्कूल पर हमला
    BBC
    फ्लोरिडा में स्कूल पर हमला

    अमरीका के 40 फ़ीसदी लोगों का कहना है कि वे बंदूक रखते हैं. वहीं, 40 फ़ीसदी लोग इस बात का बचाव करते हैं कि यह उनका अधिकार है.

    लेकिन शनिवार को स्कॉट पपालार्डो ने अपनी बंदूक तोड़ डाली. ऐसा करने वाले वो अकेले शख़्स नहीं हैं.

    पिछले सप्ताह फ्लोरिडा के एक स्कूल में हुई गोलीबारी की घटना में 17 लोगों की मौत और कई घायल हुए थे. घटना के विरोध में युवाओं ने #NeverAgain अभियान की शुरुआत की थी.

    रैली निकाल कर युवाओं ने बंदूकों से अंजाम दिए जाने वाले हिंसा पर रोक लगाने की मांग की. वे क़ानून बदले जाने की मांग कर रहे थे.

    https://www.facebook.com/100007513365065/videos/1993503840910042/?id=100007513365065

    इसके बाद स्कॉट पपालार्डो ने फ़ेसबुक पर एक वीडियो जारी किया जिसमें वो एआर-15 राइफ़ल को इलेक्ट्रिक कटर से काटते नजर आ रहे हैं.

    यह उसी मॉडल की राइफ़ल थी जिससे स्कूल में गोलीबारी की गई थी. इस वीडियो को 2 करोड़ 20 लाख लोगों ने देखा है.

    न्यूयॉर्क में रहने वाले पपालार्डों ने बीबीसी से कहा, "फ्लोरिडा की घटना ने मुझे अंदर तक झकझोर दिया. मैं इसे पिछले साल ही इसे बेचना चाहता था. प्रदर्शन कर रहे बच्चों के चेहरे पर दर्द झलक रहे थे और उनकी कहानी ने मुझे ऐसा करने पर मजबूर कर दिया."

    "मैं दूसरों से भी ऐसा करने की गुजारिश करता हूं पर इन्हें मेरी तरह काटे नहीं. मुझे पता चला है कि बंदूक को काटना एक अपराध है. मुझे इसे पुलिस स्टेशन को सौंपने को कहा गया है."

    https://www.facebook.com/photo.php?fbid=10215913989589171

    पपालार्डो के इस वीडियो ने दूसरे को भी प्रेरित किया है. मंगलवार को देबी लेंज ने फ़ेसबुक पर एक फोटो पोस्ट किया जिसमें उन्होंने पपालार्डो को धन्यवाद कहा है.

    उन्होंने लिखा, "यह मेरा एआर-15 राइफ़ल है. स्कॉट पपालार्डो ने मुझे प्रेरित किया. धन्यवाद सर, मुझे यह बताने के लिए कि इसके साथ क्या करना चाहिए था. यह मेरे पास कई सालों से थी. मैं इसके साथ अब और नहीं रह सकती."

    माइकल टी मर्फी ने भी मंगलवार को कुछ ऐसा ही किया. उन्होंने भी #NotMyAR और #OneLess हैशटैग के साथ एक वीडियो पोस्ट किया था.

    उन्होंने अपने राइफ़ल को इलेक्ट्रिक कटर से काटने से पहले कहा, "मुझे नहीं लगता है कि इसको रखना मेरा अधिकार है. मुझे नहीं लगता है कि सरकार इस तरह के हथियार को समाज से हटाने के लिए कुछ पुख्ता काम कर रही है."

    https://twitter.com/RepWillBailey/status/966115681862389760

    ट्विटर यूजर विल बेली ने बेटी के कहने पर अपनी बंदूक लोकल पुलिस स्टेशन को सौंप दी. उनकी बेटी को जब फ्लोरिडा की घटना के बारे में पता चला तो वो रोनी लगी. जब विल ने उन्हें बताया कि उनके पास भी ऐसी हथियार है तो उनकी बेटी ने कहा, "अब इसे हमारे साथ और नहीं रहना चाहिए."

    उनके इस ट्वीट को 23 हज़ार लोगों ने पसंद किया है. बेन डिकमैन भी फ्लोरिडा की घटना के बाद अपनी राइफ़ल पुलिस स्टेशन को सौंप दी.

    मंगलवार को राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने सेमी ऑटोमैटिक राइफ़ल बंप स्टॉक पर प्रतिबंध लगाने संबंधी निर्देश पर हस्ताक्षर किया था, जिसका उपयोग बीते अक्टूबर में लास वेगास में आयोजित एक कन्सर्ट पर किया गया था.

    इस गोलीबारी में 58 लोगों की मौत हो गई थी.

    (बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    BBC Hindi
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Why are Americans against their own rifle

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X