खतरों और चुनौतियों को भांपने के बाद मोसुल पहुंची अमेरिकी सेना

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

मोसुल। एक बार फिर अमेरिकी सेनाएं मोसुल में हैं और इराक के साथ मिलकर अमेरिका ने आईएसआईएस के खिलाफ अब तक का सबसे बड़ा हमला बोला है। राष्‍ट्रपति बराक ओबामा और उनके प्रशासन ने इस शहर में लड़ाई तो छेड़ दी है लेकिन पुरानी गलती भी दोहराने से नहीं चूके हैं।

us-in-mosul-isis

कैसे संभलेगा इराक का प्रशासन

इराक और अमेरिका दोनों ही इस बात का अंदाजा नहीं लगा पाए हैं कि एक बार जब यह जगह आईएसआईएस के आतंकियों से आजाद हो जाएगी तो फिर इस क्षेत्र का प्रशासन कैसे संभलेगा।

इस बात की जानकारी खुद अमेरिकी अधिकारियों ने दी है। अमेरिकी अधिकारियों ने इस बात का पता लगा लिया है कि मोसुल के लिए जो योजना उन्‍होंने तैयार की है उसमें कितना खतरा है।

अमेरिकी अधिकारियों की चिंता

अमेरिकी अधिकारियों को इस बात की भी चिंता है कि आईएसआईएस की हार मोसुल में उन लोगों को एक मौका दे सकती है जो कट्टरपंथी हैं।

उनका कहना है कि आईएसआईएस इराक में मौजूद सेना को काफी नुकसान पहुंचा रहा था। इसलिए यही समय था जब उन पर हमला बोलना चाहिए था।

कैसे आएगी स्थिरता

अधिकारियों के मुताबिक मोसुल में हमले के बाद जो हजारों लाखों लोग इस जगह को छोड़कर जाएंगे, उन्‍हें किसी जगह पर स्‍थानांतरित करना सबसे बड़ी चुनौती होगी। इसके बाद कुछ मौलिक मुद्दे जैसे भविष्‍य में इराक में स्थिरता, भी काफी अहम होने वाले हैं।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
US returns to Mosul, Iraq to start the biggest battle against ISIS.
Please Wait while comments are loading...