• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

Anti-Lockdown Protest in China: चीन में कोरोना पर नियंत्रण आसान नहीं! लोग बोले- हमें लॉकडाउन से दो आजादी

चीन में एक बार फिर से कोरोना संक्रमण बढ़ने की आशंका में कुछ इलाकों में लॉकडाउन के प्रतिबंध लगाने पड़े हैं। इस बीच प्रशासन के इस एक्शन के खिलाफ अब विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए।
Google Oneindia News

Anti-Lockdown Protest in China: चीन में एक बार फिर से कोरोना संक्रमण बढ़ने की आशंका में कुछ इलाकों में लॉकडाउन के प्रतिबंध लगाने पड़े हैं। इस बीच प्रशासन के इस एक्शन के खिलाफ अब विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए। लोगों ने कहा कि उन्हें अपने कामों और आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए लॉकडाउन से मुक्ति चाहिए। चीन में ये विरोध प्रदर्शन ऐसे समय में हो रहे हैं, जब एक बार फिर से कोरोना वहां पैर पसार रहा है। ऐसे में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की चिंताएं बढ़ गई हैं।

Corona in China

उत्तरी पश्चिमी चीन में विरोध
इस हफ्ते गुरुवार को उत्तर पश्चिमी चीन के झिंजियांग क्षेत्र की राजधानी उरुमकी में भीषण आग लग गई। जिसके बाद लोगों को गुस्सा भड़क गया। कई लोगों ने बचाव के प्रयासों में बाधा डालने के लिए लंबे समय तक कोविड लॉकडाउन को जिम्मेदार ठहराया है। वहीं रविवार को शंघाई में मंदारिन में उरुमकी में आग बुझाने में लॉकडाउन के बाधक बनने पर जमकर विरोध हुआ। लोगों वहां वुलुमुकी मार्ग जाम कर दिया। इस दौरान मौक पर विरोध शांत कराने पहुंचे पुलिस अधिकारियों से लोगों की तीखी नोंकझोंक हुई।

बीजिंग में विरोध
चीन की कोरोना वायरस पर रोकथाम की कट्टर रणनीति सार्वजनिक निराशा का कारण बन चुकी है। चीन की शून्य-कोविड नीति के विरोध में रविवार को बीजिंग और शंघाई में सैकड़ों लोगों ने सड़कों पर उतरकर लॉकडाउन का विरोध किया। तालाबंदी के विरोध में रविवार बीजिंग के कुलीन सिंघुआ विश्वविद्यालय में सैकड़ों लोगों ने रैली निकाली। यूनिवर्सिटी के छात्रों ने सुबह 11:30 बजे कैंटीन के प्रवेश द्वार पर विरोध के समर्थन में साइन बोर्ड लगाकर विरोध किया। एक रिपोर्ट के मुताबिक इस विरोध में करीब 200 से 300 लोग शामिल हुए। इस दौरान विरोध में शामिल लोगों ने नो लॉकडाउन और वी वांट फ्रीडम का नारे लगाए।

शंघाई में भी विरोध
एक अंतर्राष्ट्रीय न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट में कहा गया कि रविवार दोपहर शंघाई शहर में सैकड़ों लोग इकट्ठा हुए। लोगों वहां मौन विरोध किया। प्रदर्शनकारी कई चौराहों पर कोरे कागज और सफेद फूल लिए चुपचाप खड़े रहे। कई अलग-अलग जगहों पर लोग पीले फूलों का गुलदस्ता पकड़े दिखाई दिए। वहीं एक व्यक्ति को एक चौराहे पर पुलिस की गाड़ी में घसीटते हुए दिखाया गया है।

शी जिनपिंग, स्टेप डाउन के लगे नारे
रविवार को चीन कई प्रमुख इलाकों में विरोध हुआ। शंघाई में वुलुमुकी सड़क पर घंटों पहले भीड़ जमा हो गई। वहीं मंदारिन में उरुमकी के नाम पर प्रदर्शनकारियों को "शी जिनपिंग, स्टेप डाउन! सीसीपी, स्टेप डाउन!" के नारे लगाए। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने इस विरोध को समर्थन दिया। शीआन, ग्वांगझू और वुहान से इसी तरह के छोटे-छोटे विरोध प्रदर्शन देखने को मिले।

 कंधे पर बैठी बेटी, बारिश और ठंड बीच भीग रही 'मां', 18 सेकंड के Video ने जीता दिल कंधे पर बैठी बेटी, बारिश और ठंड बीच भीग रही 'मां', 18 सेकंड के Video ने जीता दिल

लोगों और पुलिस के बीच झड़प
विरोध के दौरान लोगों की पुलिस झड़पें भी हुईं। लेकिन कुल मिलाकर पुलिस का व्यवहार सभ्य कहा गया। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार कई प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि कई लोगों को पुलिस ले गई। हालांकि शंघाई पुलिस ने टिप्पणी के लिए एएफपी के अनुरोध का जवाब नहीं दिया।

Comments
English summary
No Lock-down we need freedom people protest Anti-Lockdown Protest in China
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X