चीन में समलैंगिक संबंधों के वीडियो दिखाने पर बैन, वीबो पर 'I Am Gay' लिखकर हो रहा प्रदर्शन

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। चीन में इंटरनेट पर समलैंगिक संबंधों को दिखाने वाले वीडियो ब्लॉक किए जा रहे हैं। इसे लेकर चीन की माइक्रोब्लॉगिंग साइट वीबो (चीन में ट्वीटर बैन है, उसकी जगह वीबो चलता है) पर जमकर बहस छिड़ी हुई है। लोग अब वीबो पर इसके खिलाफ लिख रहे हैं। हैश टैग आई एम गे (#I am gay) वहां वायरल हो रहा है। कई वीबो यूजर सरकार के इस फैसले का विरोध कर रहे हैं तो कुछ नाराज हैं और कुछ हताश लग रहे हैं। वीबो ने शुक्रवार को अपने आधिकारिक बयान में कहा कि अवैध सामग्री को हटाने के लिए "मंगा और वीडियो, प्रोर्नोग्राफी, हिंसा को बढ़ावा देने या समलैंगिकता से संबंधित वीडियो को शामिल कर उसका सफाया शुरू कर दिया गया है। एक अन्य ने लिखा है, "क्या समलैंगिक इंसान नहीं हैं? सरकार उन्हें अछूत साबित क्यों करना चाह रही है?" विस्‍तार से जानिए पूरा मामला

सरकार को हिलाने का संकेत

सरकार को हिलाने का संकेत

वीबो पर यह प्रदर्शन कम्युनिस्ट पार्टी के लिए एक संकेत है क्‍योंकि लोग इसे समाजिकता के मूलभूत मूल्‍यों से भटकाने का मामला मान रहे हैं। लोगों का मानना है कि यह सामाजिक मानदंडों की आलोचना और स्थापित नीतियों को दबाना है। तीन महीनों से चल रहे इस कैंपेन में कई वीडियो गेम बनाए गए हैं।

समलैंगिकों को बताया 'बीमार'

समलैंगिकों को बताया 'बीमार'

यह पूरी बहस उस फ़ैसले के बाद छिड़ी, जिसमें सरकार ने इंटरनेट से समलैंगिकता को बढ़ावा देने वाले वीडियो हटाने का निर्णय लिया था। शुरुआती दिनों में लागू किए गए नियम में समलैंगिक लोगों को 'एबनॉर्मल' बताया गया है। इसके तहत समलैंगिक सेक्स वीडियो के साथ-साथ उन वीडियो पर भी कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं जिसमें समलैंगिक जोड़ों को दिखाया गया है। ऐसे वीडियो पर नज़र रखने के लिए विशेष रूप से सेंसरशिप टीम का गठन किया गया है, जो वीडियो डिलीट करने का काम कर रही है।

इंटरनेट की हर सामग्री पर नजर

इंटरनेट की हर सामग्री पर नजर

सरकार के इस फैसले की चीन की पहली सेक्सॉलाजिस्ट ली यिनहे ने तीखी अलोचना की है। वो कहती हैं, "सरकार की नजर में समलैंगिकता अश्लील है। इससे चीन का समलैंगिक तबका गुस्से में है।" ली यिनहे ने बीबीसी से कहा कि उन्होंने सोशल साइट वीबो पर फैसले की आलोचना करते हुए एक लेख लिखा। ली ने अपने लेख में सरकार से इस फैसले को वापस लेने की मांग की, लेकिन वेबसाइट ने कुछ की घंटों में इसे हटा दिया। चाइना नेटकास्टिंग सर्विसेज एसोसिएशन की ओर से जारी किए गए दिशा-निर्देशों में कहा गया है कि जांचकर्ता इंटरनेट पर सभी सामग्रियों की जांच करते हैं। एसोसिएशन के अनुसार इंटरनेट पर पोस्ट की गई सभी तरह की सामग्री चीन के समाजवाद की उन्नत संस्कृति को बढ़ावा देने वाली होनी चाहिए।

ये भी पढ़ें- उन्नाव गैंगरेप पर टूटी सीएम आदित्यनाथ की चुप्पी, कहा- अपराधी कोई भी हो बख्शा नहीं जाएगा  

ये भी पढ़ें- मेरठ: गन्ने के खेत में युवती का न्यूड वीडियो बनाकर किया वायरल 

ये भी पढ़ें- सेक्स पावर बढ़ाने के लिए लिया इंजेक्शन तो छोड़कर भागा प्रेमी, लड़की की मौत

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
China’s Sina Weibo said it would remove “homosexual” content from the popular microblogging platform, prompting a storm of online protests Saturday under the hashtag “I am gay”.

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.