• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कोरोना वायरस की वजह से सऊदी अरब में रमजान माह में बंद रहेंगी मस्जिदें, सरकार ने कहा सिर्फ घरों में ही अता करें नमाज

|

रियाद। सऊदी अरब में इस बार रमजान का महीना लॉकडाउन में गुजरेगा। इस बार रमजान की शुरुआत 23 अप्रैल से हो रही है। माना जा रहा है मुसलमान देशों के लिए इस वर्ष रमजान बाकी वर्षों की तुलना में बहुत अलग रहने वाली है। सऊदी अरब में रमजान के पवित्र माह के दौरान भी मुसलमानों को मस्जिद नहीं बल्कि घरों में ही नमाज अता करनी पड़ेगी। देश के इस्‍लामिक मामलों के मंत्री अब्‍दुल लतीफ अल-शेख ने इस बात का ऐलान किया है कि जब तक कोरोना वायरस दुनिया में मौजूद है, तब तक किसी को भी मस्जिद में नमाज अता नहीं करनी दी जाएगी। यही नहीं सऊदी की मक्‍का मस्जिद को भी बंद रखा जाएगा।

saudi-arabia.jpg

यह भी पढ़ें-Coronavirus Impact: चीन से निकलने की तैयारी में iPhone

कर्फ्यू के बीच होगी रमजान की शुरुआत

19 मार्च से ही सऊदी अरब की मस्जिदों में ग्रुप में नमाज अता करने पर रोक लगी हुई है। सरकार की तरफ से वायरस को फैलने से रोकने के लिए यह फैसला लिया गया था। मंत्री शेख ने बताया कि मुसलमानों की तरफ से होने वाली रोजाना अनिवार्य प्रार्थनाएं रमजान में होने वाली तारावीह प्रार्थनाओं की तुलना में ज्‍यादा महत्‍वपूर्ण हैं। उन्‍होंने कहा कि नागरिकों को स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के आदेशों को मानना पड़ेगा। शेख ने स्‍थानीय मीडिया से कहा, 'मस्जिदों में पांच दिनों की रोजाना अता होने वाली नमाज को बंद करना तारावीह प्रार्थनाओं को बंद करने से ज्‍यादा महत्‍वपूर्ण हैं। हम अल्‍लाह से तवारीह प्रार्थनाओं को कुबूल करने के लिए कहते हैं चाहे वह मस्जिद में हो या फिर घरों में की जाए। लोगों के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अभी यह ज्‍यादा अहम है।' सऊदी अथॉरिटीज ने रविवार को देश में लगे कर्फ्यू को अगले आदेश तक के लिए बढ़ा दिया है। सरकार ने संक्रमण के केसेज में इजाफा होने के चलते यह फैसला लिया है।

सरकार ने जताया दो लाख मौतों का अंदेशा

देश में 21 दिनों का कर्फ्यू जारी है। शात सात बजे से सुबह छह बजे तक कर्फ्यू लागू रहता है। पिछले हफ्ते राजधानी रियाद समेत बड़े शहरों में 24 घंटे का कर्फ्यू लगाया गया था। इसकी वजह से कई लोग अपने ही घरों में रहने को मजबूर हैं। कर्फ्यू लगने के बाद से देश में रोजाना 300 नए केसेज सामने आ रहे है। नागरिकों को सिर्फ जरूरी सामान लेने के लिए घर से निकलने की मंजूरी दी गई है। कर्फ्यू तोड़ने पर उन्‍हें जेल जाना पड़ सकता है और साथ ही भारी जुर्माना तक अदा करना पड़ सकता है। गृह मंत्रालय की तरफ से भी सुरक्षाकर्मियों समेत उन तमाम लोगों जिनके लिए घर से बाहर निकलना जरूरी है, नई शर्तों के साथ बाहर निकलने मंजूरी दी गई है। सऊदी अरब में 4,934 मामले सामने आए हैं और 65 लोगों की मौत हो चुकी है। छह देशों वाले खाड़ी सहयोग परिषद में अब तक 96 मौतें हो चुकी हैं और सऊदी अरब टॉप पर है। खाड़ी देशों में 14,100 मामले सामने आए हैं। सऊदी सरकार की तरफ से चेतावनी दी गई है कि आने वाले हफ्तों में दो लाख मौतें तक हो सकती हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Coronavirus: Muslims will only be permitted to pray at home in Saudi Arabia during the holy month of Ramadan.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X