जापानी पीएम शिंज़ो अबे सीधे गुजरात क्यों आ रहे?

By: प्रोफ़ेसर मुकेश विलियम्स - सोका विश्वविद्यालय, टोक्यो
Subscribe to Oneindia Hindi
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शिंज़ो अबे
Getty Images
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शिंज़ो अबे

जापान और भारत के संबंधों में काफ़ी परिवर्तन आ रहा है और यह चीन को बिलकुल भी पसंद नहीं है. जापानी प्रधानमंत्री शिंज़ो अबे का दौरा सीधा गुजरात से शुरू हो रहा है जो काफ़ी अहम है क्योंकि वहां 50 जापानी कंपनियां हैं.

जापान के विश्लेषकों के अनुसार जापान गुजरात में काफ़ी कर्ज़ दे रहा है. यह कर्ज़ किसी ख़ास चीज़ों के लिए नहीं बल्कि आम चीज़ों के लिए दिया जा रहा है जिसका उद्देश्य यह है कि उनसे उन जापानी कंपनियों को भी फ़ायदा हो.

इसी कारण गुजरात और बाक़ी भारत में जापान का निवेश काफ़ी बढ़ता हुआ दिखाई दे रहा है. बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शिंज़ो अबे अहमदाबाद से मुंबई के बीच बुलेट ट्रेन कॉरिडोर का शिलान्यास करेंगे जो एक फ़ायदेमंद सौदा है. इसके अलावा दोनों राजनेता रोड शो भी करेंगे.

उत्तर कोरिया से क्यों और कितना डरे हुए हैं अमरीका-जापान

पोस्टर
Getty Images
पोस्टर

बुलेट ट्रेन में चलने लायक आमदनी

लोग कह रहे हैं कि हिंदुस्तान ग़रीब देश है, बुलेट ट्रेन से कोई फ़ायदा नहीं होगा. लोग तो कहते ही हैं लेकिन यह देखने की ज़रूरत है कि मुंबई से अहमदाबाद बिज़नेस के हिसाब से बहुत व्यस्त रूट है.

साथ ही लोगों के पास इतनी आमदनी है कि वह बुलेट ट्रेन में चल सकते हैं. बुलेट ट्रेन से जुड़ने वाली फीडर लाइन इतनी विकसित नहीं हैं लेकिन जैसे ही बुलेट ट्रेन चलनी शुरू होगी वो दिक्कतें भी ठीक हो जाएंगी.

इससे भारतीय कंपनियों को फ़ायदा होने वाला है. उन्हें हाइटेक ट्रेन बनाने की तकनीक इससे मिलेगी.

जापान में शिंज़ो अबे ने प्रधानमंत्री मोदी की तरह परिवर्तन का दौर शुरू किया है. इस वक़्त जापान में जो कंपनियां हैं वो भारत की ओर देख रही हैं और वहां निवेश करने का सोच रही हैं. सुज़ुकी ऑटोमेटिक कार मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाने के लिए तैयार है और उसके लिए पैसा आना भी शुरू हो चुका है.

जापान की नींद उड़ाने वाली मिसाइल

पीएम मोदी और शिंज़ो अबे
Getty Images
पीएम मोदी और शिंज़ो अबे

चीनी मीडिया परेशान

जापान भारत में इसलिए निवेश कर रहा है क्योंकि पूर्वी और दक्षिणी चीन सागर में वह ख़ुद को असुरक्षित महसूस करता है. इसके अलावा उत्तर कोरिया का सामना कैसे किया जाए, निवेश के पीछे यह सब वजहें भी है ताकि भारत उसके साथ दिखाई दे.

चीनी मीडिया इस दौरे से तिलमिलाया हुआ दिखता है. चीन के साथ रिश्तों का इतिहास 1962 से ही ख़राब है. जापान के साथ कभी बुरे रिश्ते नहीं रहे. दूसरे विश्व युद्ध की छाया भी भारत-जापान के बीच नहीं है जबकि चीन और जापान के रिश्ते हमेशा से दुविधा में रहे हैं.

किस भारत के लिए मोदी ला रहे हैं बुलेट ट्रेन?

पीएम मोदी और शिंज़ो अबे
Getty Images
पीएम मोदी और शिंज़ो अबे

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग का दौरा भी अहमदाबाद से शुरू हुआ था लेकिन उसका कोई ठोस नतीजा नही निकला लेकिन शिंजो अबे कई बार भारत आ चुके हैं और इसका नतीजा सबके सामने है. चीनी मीडिया इसी बात से ख़फ़ा है.

जापाना और भारत के बीच जो ख़ुशी की लहर दौड़ रही है वो अच्छी बात है. जापान और भारत के उद्योग में इससे काफ़ी जोश है.

(बीबीसी संवाददाता मोहम्मद शाहिद से बातचीत पर आधारित)

BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Why is Japanese PM Shinzo Abe coming straight Gujarat?.
Please Wait while comments are loading...