• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

उन्नाव एक्सिडेंट: रेप पीड़िता की कार को टक्कर मारने वाली ट्रक के नंबर प्लेट पर पुती थी कालिख, उठे कई सवाल

|
    Unnao Case: Accident या साजिश ?, Truck की नंबर प्लेन पर क्यों पुती थी कालिख ? | वनइंडिया हिंदी

    नई दिल्ली। उन्नाव के चर्चित रेप केस की पीड़िता की गाड़ी को रविवार दोपहर एक ट्रक ने टक्कर मार दी। हादसे में कार सवार पीड़िता की मौसी और चाची की मौत हो गई, जबकि पीड़िता और वकील अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं। इस मामले में परिजनों ने भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर एक्सीडेंट करवाने का आरोप लगाया है। वहीं, जिस ट्रक ने पीड़िता की कार को टक्कर मारी थी, उसको लेकर भी कई सवाल उठने लगे हैं।

    ट्रक के नंबर पर पुती थी कालिख

    ट्रक के नंबर पर पुती थी कालिख

    दरअसल, जिस ट्रक से पीड़िता की कार की टक्कर हुई थी, उसके नंबर पर काला ग्रीस लगा था और उसका नंबर पता नहीं चल पा रहा था।इसको लेकर ऐसी आशंका जताई जा रही है कि ट्रक के नंबर को छिपाने की कोशिश की गई थी। पुलिस ने ट्रक ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया है लेकिन नंबर प्लेट पर लगी ग्रीस ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं। पुलिस का कहना है कि अक्सर आरटीओ से बचने के लिए ओवरलोड ट्रक वाले नंबर प्लेट से छेड़छाड़ करते हैं, इसकी जांच की जा रही है कि नंबर प्लेट पर ग्रीस क्यों पुती गई थी।

    ये भी पढ़ें: उन्नाव रेप पीड़िता ने सशस्त्र गार्ड को साथ ले जाने से क्यों किया था इनकार?

    सुरक्षा में तैनात गार्ड्स भी नहीं थे पीड़िता के साथ

    सुरक्षा में तैनात गार्ड्स भी नहीं थे पीड़िता के साथ

    वहीं, बताया जा रहा है कि ये ट्रक एकदम खाली थी, ऐसे में पुलिस का ये बयान भी किसी के गले नहीं उतर रहा है। जबकि हादसे के वक्त पीड़िता को मुहैया कराए गए सुरक्षा गार्ड्स भी साथ नहीं थे। इस पर पुलिस का कहना था कि रेप पीड़िता की कार में जगह ना होने के कारण वे साथ नहीं गए थे। पीड़िता की सुरक्षा में लगे सशस्त्र गार्ड सुरेश ने बताया कि रेप पीड़िता ने उन्हें गाड़ी में जगह ना होने के कारण साथ ना चलने को कहा था, जिसके कारण वे साथ नहीं गए।

    हादसे में पीड़िता की चाची और मौसी की मौत

    हादसे में पीड़िता की चाची और मौसी की मौत

    रविवार को रायबरेली में एनएच 232 पर अटोरा के पास तेज रफ्तार कार और ट्रक में टक्कर हो गई। इसके बाद स्थानीय लोगों ने घायलों को बाहर निकाला और इसकी सूचना पुलिस को दी गई, जिसके बाद मौके पर डायल 100 की टीम मौके पर पहुंची और अपनी गाड़ी और प्राइवेट वाहन से सभी घायलों को जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां चाची और मौसी ने दम तोड़ दिया। बता दें, कार और ट्रक की उस वक्त टक्कर हुई थी, जब उन्नाव रेप केस की पीड़िता अपने परिवार और वकील के साथ रायबरेली जेल में बंद अपने चाचा से मिलने जा रही थी। परिजनों ने विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर एक्सीडेंट करवाने का आरोप लगाया है।

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    unnao rape case victim accident, truck's number wiped left several questions
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X