• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

यहां के राष्ट्रपति को इस कुत्ते से था इतना प्यार कि बनवा दी सोने की मूर्ति, समारोह कर किया ग्रेंड इनाग्रेशन

|

नई दिल्‍ली। कुछ दिन पहले ही उत्‍तर प्रदेश के हमीरपुर एक शख्‍स ने अपने पालतू डॉगी के मां बनने पर पैदा हुए 5 पिल्‍लों का मालिक ने धूमधाम से जन्मोत्सव मनाया था। संतोष सैनी ने अपनी पालतू डॉगी पीसी को घर सदस्य के तौर पर उसके मां बनने पर कुआं पूजन की रस्म भी निभाई और भोज का भी आयोजन भी किया। वहीं पिछले दिनों छिदवाड़ा का एक शख्‍स अपने पालतू कुत्‍ते से इतना प्‍यार करता था कि उसने कुत्‍ते की मौत के बाद खुदकुशी करके अपनी जिंदगी का अंत कर लिया। ये तो आम लोगों का अपने कुत्ते का प्‍यार हैं लेकिन तुर्कमेनिस्‍तान के राष्‍ट्रपति ने जो अपने फेवरेट कुत्‍ते के लिए किया उसे सुनकर आप जरुर अचंभित हो जाएंगे।

तुर्कमेनिस्तान के राष्ट्रपति ने अपने पसंदीदा कुत्ते की लगवाई 'सोने' की मूर्ति

तुर्कमेनिस्तान के राष्ट्रपति ने अपने पसंदीदा कुत्ते की लगवाई 'सोने' की मूर्ति

दरअसल, तुर्कमेनिस्‍तान के राष्‍ट्रपति गुरबांगुली बेर्दयमुखमेदोव ने अपने फेवरेट कुत्‍ते की करीब 19 फुट की ऊंची मूर्ति देश की राजधानी के चौराहे पर बनवा डाली। 2007 तुर्क‍मेनिस्‍तान की सत्‍ता पर काबिज गुरबांगुली बेर्दयमुखमेदोव ने बीते बुधवार को अलबी प्रजाति के इस कुत्ते की इस मूर्ति का बकायदा औपचारिक अनावरण किया। इस मूर्ति की खासियत है कि ये कुत्‍ते की मूर्ति सोने से कोटेड है।

अमिताभ बच्‍चन से शख्‍स ने पूछा- आप दान क्यों नहीं करते, तो बिग बी ने दिया ये करारा जवाब

राजधानी के मुख्‍य चौराहे पर लगवाई गई है ये मूर्ति

राजधानी के मुख्‍य चौराहे पर लगवाई गई है ये मूर्ति

भारत में मूर्ति प्रेम तो लोगों ने सुना होगा जो नेता अपने जीते जी अपनी बड़ी-बड़ी मूर्तियां बनवा लेते हैं लेकिन इस राष्‍ट्रपति ने तो अपने पसंदीदा कुत्‍ते की मूर्ति चौराहे पर लगवा डाली। सोशल मीडिया पर इसकी फोटो की चर्चा जमकर हो रही है। इस मूर्ति को तुर्कमेनिस्तान की राजधानी अश्गाबात के नए इलाके में स्थापित किया गया है।

दर्दनाक: 74 वर्षीय आदमी को फ्रीजर में रखकर, परिवार करता रहा रात भर मरने का इंतजार

जानें इसी खास नस्‍ल के कुत्‍ते की क्यों लगवाई मूर्ति

जानें इसी खास नस्‍ल के कुत्‍ते की क्यों लगवाई मूर्ति

जिस कुत्‍ते की ये प्रतिमा है उसे मध्य एशियाई अलबी प्रजाति के रूप में जाना जाता है, इसका यहां सम्मान किया जाता है। इस नस्ल के कुत्ते यहीं पैदा होते हैं इसलिए उन्हें तुर्कमेनिस्तान के राष्ट्रीय पहचान से भी जोड़ कर देखा जाता है। सोने से कोटेड इस मूर्ति के बारे में तुर्कमेनिस्‍तान सरकार ने बताया कि इस कुत्‍ते की मूर्ति कांसे से बनाई गई है और इस पर 24 कैरेट सोने की परत चढ़ाई गई है। मूर्ति की ऊंचाई 20 फुट की है।

धूमधाम से राष्‍ट्रपति ने समारोह में किया कुत्‍ते की मूर्ति का अनावरण

धूमधाम से राष्‍ट्रपति ने समारोह में किया कुत्‍ते की मूर्ति का अनावरण

कई फोटो और वीडियो के अनुसार जो अब इंटरनेट पर वायरल हो रही है उसके अनुसार कुत्‍ते की प्रतिमा अनावरण समारोह में गीत, नृत्य और एक वास्तविक अलाबाई पिल्ला भी शामिल हुआ। न्यूयॉर्क की एक पोस्ट के अनुसार, कैनाइन प्रतिमा के नीचे के पेडस्टल में एक रैपराउंड एलईडी स्क्रीन है, जिसमें विभिन्न सेटिंग्स में चारों ओर दौड़ते कुत्ते की देश की प्यारी नस्ल दिखाई दे रही है।

कौन हैं IPS मोहिता शर्मा, जो KBC की बनीं दूसरी करोड़पति

जानें क्या है इस देश के लोगों का हाल

गौरतलब है कि जिस देश तुर्कमेनिस्‍तान में कुत्‍ते की गोल्‍ड कोटेड मूर्ति बनाई गई है उसी देश के लोग गरीबी में जीवन जीने के लिए मजबूर हैं। तेल और प्राकृतिक गैस की वजह से देश की अर्थव्यवस्था का विस्तार हो रहा है लेकिन इसका लाभ सिर्फ वहां के अमीर लोगों को ही मिल रहा है। वहीं कोरोना महामारी के दौरान तेल कारोबार धीमा पड1ने के बादल लोगों की नौकरियां तक चली गई थी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Turkmen President imposes 'gold' statue of his favorite dog
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X