सोनिया ने चिदंबरम को चिट्ठी लिख कर की थी तहलका की मदद!

Subscribe to Oneindia Hindi
    Sonia Gandhi ने P chidambaram को चिट्ठी लिख कर की थी Tarun Tejpal की मदद । वनइंडिया हिंदी

    नई दिल्ली। दो अंग्रेजी समाचार चैनलों ने की एक रिपोर्ट के अनुसार संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (UPA) के 2004 में सत्ता में आने के चार महीने बाद सोनिया गांधी ने तत्कालीन वित्त मंत्री पी चिदंबरम को तहलका न्यूज पोर्टल के फाइनेंसरों के लिए पत्र लिखा था। समाचार चैनलों का दावा है कि उनके हाथ वो पत्र लगा है जिसमें सोनिया गांधी ने तहलका की फाइनेंसर कंपनी 'फर्स्ट ग्लोबल' के खिलाफ चल रही जांच के मामले में निर्देश दिए थे। बता दें कि उस वक्त तहलका के संपादक तरुण तेजपाल थे जो फिलहाल बलात्कार के मामले में जमानत पर हैं। दावा किया गया है कि सोनिया की ओर से चिदंबरम को पत्र लिखे जाने के 4 दिन बाद ही UPA सरकार ने मंत्रियों के एक समूह का गठन किया और पत्र लिखे जाने के 6 माह बाद 'फर्स्ट ग्लोबल' के खिलाफ जांच वापस ले ली गई।

    सोनिया ने चिदंबरम को चिट्ठी लिख कर की थी तरुण तेजपाल की मदद!

    चैनलों की ओर से प्रसारित खबर के अनुसार निजी कंपनी 'फर्स्ट ग्लोबल' के शंकर शर्मा और देविना मेहरा ने सोनिया को पत्र लिखा था। इसके अगले दिन ही चिदंबरम ने प्रवर्तन निदेशालय (ED) और केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के प्रमुखों से मुलाता की थी। उस वक्त ED तहलका की कार्यशैली की जांच कर रहा था। 

    वहीं पी चिदबंरम ने समाचार के जवाब में कहा कि पत्र पर जो टिप्णियां हैं वो सही हैं। उन्होंने कहा कि सोनिया के पत्र और उनके उत्तर को एक साथ पढ़ा जाना चाहिए।

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Sonia Gandhi wrote to P Chidambaram to help Tehelka.

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.