शिवसेना का पीएम पर हमला, झूठ से चुनाव जीत सकते हैं, युद्ध नहीं

Written By:
Subscribe to Oneindia Hindi

मुंबई। एनडीए की सहयोगी शिवसेना भाजपा के लिए लगातार मुश्किल का सबब बन रही है, पहले नोटबंदी फिर किसानों की कर्जमाफी के मुद्दे पर मोदी सरकार पर हमला बोलने वाली शिवसेना ने इस बार पीएम मोदी की विदेश नीति पर हमला बोला है। पीएम मोदी पर बड़ा हमला बोलते हुए शिवसेना ने कहा है कि झूठ के दम पर चुनाव जीता जा सकता है लेकिन युद्ध नहीं।

उकसाने से पहले अपनी तैयारी देखे भारत

उकसाने से पहले अपनी तैयारी देखे भारत

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि भारत-चीन के बीच तनाव है, ऐसे में भारत को चीन को उकसाने से पहले अपनी रक्षा तैयारियों का जायजा करना चाहिए। ठाकरे ने कहा कि झूठ के दम पर चुनाव तो जीते जा सकते हैं लेकिन जंग को खुद की प्रशंसा से नहीं जीता जा सकता है। शिवसेना के मुखपत्र सामना में दिए अपने साक्षात्कार में ठाकरे ने कहा कि भारत को चीन और पाकिस्तान से धमकियों में इजाफा हुआ है।

चीन-पाक की धमकियां बढ़ गई हैं

चीन-पाक की धमकियां बढ़ गई हैं

ठाकरे ने कहा कि हाल के दिनों में पाकिस्तान और चीन से मिलने वाली धमकियों में इजाफा हुआ है, हमारे पास इन लोगों से लड़ने के लिए पर्याप्त मात्रा में गोला-बारूद नहीं है। साथ ही ठाकरे ने मोदी सरकार से पूछा है कि इस ताकतवर सरकार ने तीन साल में क्या किया है। भारत के उस बयान जिसमें अरुण जेटली ने कहा था कि अब भारत 1962 वाला भारत नहीं है पर हमला बोलते हुए ठाकरे ने कहा कि हमें अपना मुंह खोलने से पहले अपनी स्थिति का अंजादा होन चाहिए।

 हमे पहले यह देखना चाहिए कि हमारे पास कितना गोला-बारूद है

हमे पहले यह देखना चाहिए कि हमारे पास कितना गोला-बारूद है

चीन को दिए गए जवाब पर ठाकरे ने हमला बोलते हुए कहा कि जब हम चीन को यह बताते हैं कि हम 1962 वाला भारत नहीं हैं, तो हमें यह देख लेना चाहिए कि हमारे पास कितना गोला-बारूद है। उन्होंने कहा कि झूठे वायदों और खुद की प्रशंसा से चुनाव तो जीत सकते हैं लेकिन युद्ध नहीं। गौरतलब है कि रक्षामंत्री अरुण जेटली ने चीन के उस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए यह बयान दिया था, जिसमे चीन ने कहा था कि भारत को 1962 नहीं भूलना चाहिए।

पंजाब में भाजपा का नाश हुआ

पंजाब में भाजपा का नाश हुआ

मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए ठाकरे ने कहा कि यह सरकार लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने में विफल रही है। नोटबंदी के बाद चार महीनों में 15-16 लाख लोगों की नौकरी चली गई है, साथ ही आने वाले समय में यह स्थिति और खराब होने वाली है। वहीं हाल ही में कई राज्यों में चुनाव पर प्रतिक्रिया देते हुए ठाकरे ने कहा कि सिर्फ महाराष्ट्र के निकाय चुनाव में भाजपा जीती है, जबकि गोवा और पंजाब में पार्टी को हार मिली है। गोवा में पीएम मोदी प्रचार करने गए थे, जबकि सोनिया गांधी वहां प्रचार के लिए नहीं गईं थीं, फिर भी कांग्रेस को अधिक सीट मिली है, जबकि पंजाब में भाजपा चौपट हो गई।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Shivsena chief Udhav Thakre takes a jibe on Modi government. He says war cannot be fought with falsehood.
Please Wait while comments are loading...