राज्यसभा चेयरमैन वेंकैया नायडू के खिलाफ विपक्षी पार्टियों ने खोला मोर्चा, कार्यवाही का किया बहिष्कार

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। कांग्रेस समेत प्रमुख विपक्षी पार्टियों ने राज्यसभा के चेयरमैन वेंकैया नायडू के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। वेंकैया नायडू के रवैये पर सवाल उठाते हुए विपक्ष ने आरोप लगाया है कि राज्यसभा के चेयरमैन उन्हें बोलने नहीं देते और जनहित से जुड़े मुद्दों को नहीं उठाने दे रहे हैं। इतना ही नहीं मंगलवार को विपक्ष ने संयुक्त तौर पर राज्यसभा की कार्यवाही का बहिष्कार किया। कांग्रेस के साथ-साथ सीपीआई, सीपीएम, समाजवादी पार्टी, एनसीपी, डीएमके समेत प्रमुख विपक्षी दलों ने मोर्चा खोला है।

आजाद बोले- विपक्षी नेताओं को बोलने नहीं दिया जा रहा है

आजाद बोले- विपक्षी नेताओं को बोलने नहीं दिया जा रहा है

राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने संसद परिसर में कहा कि सदन में विपक्षी नेताओं को बोलने नहीं दिया जा रहा है। नियमों के मुताबिक सदन की कार्यवाही संचालित होनी चाहिए। ऐसे कई लोकहित के मुद्दे हैं जिन पर चर्चा होनी चाहिए लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है। यही वजह है कि विपक्षी पार्टियों ने राज्यसभा की कार्यवाही का मंगलवार को बहिष्कार करने का फैसला लिया।

ये अलोकतांत्रिक है: आनंद शर्मा

ये अलोकतांत्रिक है: आनंद शर्मा

कांग्रेस सांसद आनंद शर्मा ने कहा कि ये अलोकतांत्रिक है, हम लिखित में इसकी जानकारी राज्यसभा चेयरमैन वेंकैया नायडू को देंगे। देश के अलग-अलग हिस्सों से आने वाले सांसदों को बोलने नहीं दिया जा रहा है। सभी प्रमुख विपक्षी पार्टियों ने सदन में इस तरह के रवैये पर सवाल उठाए हैं।

विपक्ष की आवाज को दबाया जा रहा है: नरेश अग्रवाल

विपक्ष की आवाज को दबाया जा रहा है: नरेश अग्रवाल

इसी मामले में पर समाजवादी पार्टी के नेता नरेश अग्रवाल ने कहा कि जिस तरह से राज्यसभा की कार्यवाही चलाई जा रही है और विपक्ष की आवाज को दबाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हम यहां आम जनता की आवाज उठाने आए हैं। अगर हमें ऐसा नहीं करने दिया जाता है तो संसद का क्या मतलब रह जाएगा।

इसे भी पढ़ें:- Delhi Metro: मेट्रो में चढ़ने से पहले अब तौलना होगा आपको अपना बैग

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Opposition parties boycotted Rajya Sabha alleging RS Chairman not allow them to speak raise issues.

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.