• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Delhi Violence पर इस्लामिक संगठन के बयान को विदेश मंत्रालय ने बताया भ्रामक

|

नई दिल्‍ली। दिल्ली में हिंसा पर OIC (आर्गेनाइजेशन ऑफ इस्‍लामिक कोऑपरेशन) के बयान पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता रवीश कुमार ने कहा कि यह राजनीतिकरण की कोशिश है। उन्‍होंने कहा कि ऐसे समय में सभी को ऐसे बयान से बचना चाहिए। ओआईसी का बयान तथ्यात्मक रूप से गलत, चयनात्मक और भ्रामक है। सामान्य स्थिति बहाल करने और आत्मविश्वास पैदा करने के लिए जमीन पर प्रयास किया जा रहा है। हम इन संस्‍थाओं से गैर जिम्मेदार बयानों से बचने का आग्रह करते हैं।

Delhi Violence पर इस्लामिक संगठन के बयान को विदेश मंत्रालय ने बताया भ्रामक

कुमार ने कहा कि खुद पीएम ने सार्वजनिक रूप से शांति और भाईचारे की अपील की है। मैं कुछ बयानों का भी उल्लेख करना चाहूंगा जो एजेंसियों/व्यक्तियों द्वारा सामने आए हैं। हम आग्रह करेंगे कि इस तरह की गैरजिम्मेदार टिप्पणी करने का यह सही समय नहीं है, इससे जितनी समस्याएं सुलझेंगी, उससे अधिक समस्याएं पैदा हो सकती हैं। आपको बता दें कि ओआईसी ने कहा था कि वह भारत में मुसलमानों के खिलाफ हालिया और भयावह हिंसा की निंदा करता है। ओआईसी ने अपने बयान में यह भी कहा था कि हिंसा के परिणामस्वरूप निर्दोष लोगों की मौत हो रही है। मस्जिदों और मुस्लिम-स्वामित्व वाली संपत्तियों की आगजनी और तोड़फोड़ हुई है। ओआईसी पीड़ितों के परिवारों के प्रति अपनी गंभीर संवेदना व्यक्त करता है।

इस सवाल पर कि क्या रोहिंग्या मुद्दे पर म्यांमार के राष्ट्रपति यू विन मिंट और पीएम मोदी द्वारा भारत की पूर्व यात्रा के दौरान चर्चा की गई थी रवीश कुमार ने कहा यदि आप हस्ताक्षर किए गए एमओयू की संख्या को देखते हैं, तो कम से कम 4-5 समझौता ज्ञापन हैं जो कि राखीन प्रांत के सामाजिक-आर्थिक विकास से संबंधित हैं। इसलिए इस बात पर काफी चर्चा हुई कि भारत, म्यांमार के उस क्षेत्र के सामाजिक-आर्थिक विकास में किस तरह सहयोग कर सकता है।

रवीश कुमार ने चीन में फंसे भारतीयों को लेकर कहा कि हमने वुहान, चीन और जापान से 195 भारतीयों और 41 विदेशी नागरिकों को निकाला है और उन्हें आज सुबह दो विशेष उड़ानों से भारत लाया है। अब तक, कुल 842 भारतीयों और 48 विदेशी नागरिकों को चीन और जापान से निकाला गया है।

    AAP Councilor Tahir Hussain पर बड़ी Action, ताहिर हुसैन का घर Sealed | वनइंडिया हिंदी

    1984 सिख दंगा: जानिए क्‍या हुआ था उस वक्‍त दिल्‍ली में, कितने लोगों की हुई थी मौत1984 सिख दंगा: जानिए क्‍या हुआ था उस वक्‍त दिल्‍ली में, कितने लोगों की हुई थी मौत

    English summary
    OIC statement is factually inaccurate, selective and misleading, says Raveesh Kumar, MEA on Delhi Violence.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X