• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

एनडीए में जाने के बावजूद इस मामले में विपक्ष के साथ रहेंगे नीतीश कुमार

By Amit
|
Google Oneindia News

पटना। बिहार की राजनीति में हलचल अभी थमने का नाम नहीं ले रही है। महागठबंधन से नाता तोड़कर एनडीए का फिर से दामन थामने वाले नीतीश कुमार भले ही बिहार के मुख्यमंत्री बन गए हैं लेकिन एक मामला ऐसा है जिसमें नीतीश बीजेपी का समर्थन नहीं देंगे।

नीतीश कुमार उपराष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष का देंगे साथ
उपराष्ट्रपति के लिए पार्टी अपना मत नहीं बदलेगी

उपराष्ट्रपति के लिए पार्टी अपना मत नहीं बदलेगी

सूत्रों के अनुसार, बीजेपी से हाथ मिलाने के बाद भी नीतीश कुमार उपराष्ट्रपति पद के लिए अपना रवैया नहीं बदलना चाहते हैं। जदयू के एक वरिष्ठ नेता का कहना है, 'नीतिश जी ने बिहार और राष्ट्रीय राजनीति में पार्टी की भूमिका को हमेशा से ही अलग रखा है। बीजेपी के साथ गठबंधन राज्य के हितों को देखकर किया गया है लेकिन उपराष्ट्रपति पद के लिए पार्टी अपने फैसले में बदलाव बिल्कुल नहीं करेगी। पार्टी ने गोपालकृष्ण गांधी को उनकी योग्यता और काबिलियत देखकर समर्थन किया है'।

    Nitish Kumar continues to support Gopalkrishna Gandhi in Vice-Presidential polls | वनइंडिया हिन्दी
    पार्टी मीटिंग में लग चुकी है गांधी पर मुहर

    पार्टी मीटिंग में लग चुकी है गांधी पर मुहर

    हालांकि नीतीश कुमार ने बुधवार को महागठबंधन से अलग होने के बाद ही पार्टी के सासंदों को बता दिया था कि उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए पार्टी की भूमिका शुक्रवार को फ्लोर टेस्ट के बाद ही तय की जाएगी। आपको बता दें कि गुरूवार को हुई जदयू की मीटिंग में एक वरिष्ठ नेता ने गांधी पर ही मुहर लगाने के लिए पार्टी को सुनिश्चित कर दिया था।

    वेकैंया नायडू हैं एनडीए के उम्मीदवार

    वेकैंया नायडू हैं एनडीए के उम्मीदवार

    नीतीश ने भले ही बिहार में बीजेपी से हाथ मिलाया हो लेकिन उनकी पार्टी उपराष्ट्रपति पद के लिए एनडीए के उम्मीदवार और बीजेपी के वरिष्ठ नेता वेकैंया नायडू को समर्थन नहीं करेंगी। गौरतलब है कि विपक्ष ने महात्मा गांधी के पोते गोपालकृष्ण गांधी को उपराष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार घोषित किया है।

    नीतीश ने फिर थामा हैं एनडीए का दामन

    नीतीश ने फिर थामा हैं एनडीए का दामन

    गुरुवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने महागठबंधन से नाता तोड़ फिर से एनडीए का दामन थामा हैं। बिहार की राजनीति में रातोंरात उठापठक के बाद नीतीश सरकार में अब लालू यादव की पार्टी राजद की भूमिका खत्म हो चुकी है और बीजेपी के सुशील मोदी को उपमुख्यमंत्री पद सौंपा गया हैं।

    English summary
    Nitish Kumar to support opposition's candidate for Vice President despite BJP alliance
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X