• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

सिद्धू ने पाकिस्तान यात्रा को बताया था निजी दौरा, अब पंजाब सरकार से लिया खर्च

|

नई दिल्ली। पंजाब सरकार के पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए थे, जिसको लेकर काफी विवाद हुआ था। कई दिनों तक इसको लेकर देश में सियासत गरमाई रही थी। वहीं, आरटीआई के हवाले से नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्तान दौरे से जुड़ी एक बड़ी जानकारी सामने आई है। इस जानकारी के मुताबिक, सिद्धू ने इस यात्रा के लिए पंजाब सरकार से पैसे लिए जबकि उन्होंने इसे निजी यात्रा बताया था।

    Navjot Sidhu ने अपने Pakistan दौरे का खर्चा Punjab Government से क्यों वसूला ? | वनइंडिया हिंदी
    इमरान के शपथ समारोह में शिरकत करने पाकिस्तान गए थे सिद्धू

    इमरान के शपथ समारोह में शिरकत करने पाकिस्तान गए थे सिद्धू

    इमरान खान के शपथ समारोह में शिरकत करने पाकिस्तान गए सिद्धू ने इस यात्रा को निजी यात्रा बताया था। लेकिन इस दौरे को लेकर आरटीआई से मिली जानकारी के बाद विपक्षी दल अकाली दल ने सवाल उठाए हैं। अकाली दल का कहना है कि ये कैसी निजी यात्रा थी जिसमें मुख्यमंत्री के मना के बाद भी तत्कालीन कैबिनेट मंत्री सिद्धू पाकिस्तान गए और पंजाब सरकार से डेली अलाउंस, ट्रैवल अलाउंस और अपनी गाड़ी के ईंधन, ड्राइवर का खर्च तक लिया जो केवल कुछ हजार ही बनता है।

    ये भी पढ़ें: जनवरी में 10 दिन बंद रहेंगे बैंक, छुट्टियों की लिस्ट देखकर ही निपटाएं जरूरी काम

    ड्राइवर की सैलरी के तौर पर 333 रु क्लेम किया गया

    ड्राइवर की सैलरी के तौर पर 333 रु क्लेम किया गया

    आरटीआई से जो जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक, सिद्धू अटारी से वाघा बॉर्डर तक 88 किमी गाड़ी चलाने के 1320 रु क्लेम किए गए। इसके अलावा 17 अगस्त को 2018 को रोजाना भत्ता 1500 रु क्लेम किया गया, इस दौरान सिद्धू सरकारी काम पर नहीं थे। जबकि ड्राइवर की सैलरी के तौर पर 333 रु क्लेम किया गया, इसके अतिरिक्त 18 अगस्त, 2018 को भी 333 रु ड्राइवर की सैलरी के तौर पर क्लेम किए गए। वहीं, 19 अगस्त को वाघा बॉर्डर से चंडीगढ़ गाड़ी चली जिसके लिए 5550 रु क्लेम किए गए।

    रोजाना भत्ता और ट्रैवल अलाउंस किए गए क्लेम

    रोजाना भत्ता और ट्रैवल अलाउंस किए गए क्लेम

    साथ ही 19 अगस्त को रोजाना भत्ता 750 रु क्लेम किए गए। मंत्री-विधायकों की गाड़ी के ईंधन, ड्राइवर के खर्च को लेकर सरकारी नियम स्पष्ट नहीं हैं कि वे गाड़ी के इस्तेमाल का क्लेम निजी काम के लिए ले सकते हैं या फिर नहीं। दरअसल, इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में जाने के सवाल पर सिद्धू ने कहा था कि ये कोई सरकारी यात्रा नहीं है, इमरान खान उनके दोस्त हैं और इसी वजह से वे पाकिस्तान जा रहे हैं। वहीं, आरटीआई के हवाले से सामने आई जानकारी के बाद सिद्धू की इस पाकिस्तान यात्रा पर सियासत एक बार फिर गरमा सकती है।

    अकाली दल ने उठाए सवाल

    अकाली दल ने उठाए सवाल

    इस बाबत सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू ने सफाई दी है कि पाकिस्तान दौरे पर नवजोत सिंह सिद्धू ने कोई डेली अलाउंस या ट्रैवल अलाउंस नहीं लिया है। वहीं, अकाली नेता चरणजीत बराड़ ने नैतिकता का हवाला देते हुए कहा कि सिद्धू खुलेआम बोल रहे थे कि वे अपने दोस्त इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में एक दोस्त की हैसियत से जा रहे हैं, मंत्री की हैसियत से नहीं, तो इतने छोटे खर्च के लिए पंजाब सरकार से उनको क्लेम नहीं लेना चाहिए था। उन्होंने कहा कि सिद्धू की कथनी और करनी में अंतर दिख गया है।

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    navjot singh sidhu's pakistan trip expenses, rti reveals
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X