• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

मनसे नेता शालिनी ठाकरे बोलीं, निर्भया के दोषियो की फांसी का हो लाइव प्रसारण

|

नई दिल्ली। निर्भया के दोषियों को फांसी दिए जाने की तारीख तय हो गई है। गुरुवार को कोर्ट ने चौथी बार दोषियों के खिलाफ डेथ वारंट जारी किया है। इस बार जो डेथ वॉरंट जारी हुआ है, उसके मुताबित जेल में बंद दोषियों को दिल्ली की एक अदालत ने 20 मार्च, 2020 को सुबह 5:30 बजे फांसी देने का आदेश सुनाया है। कोर्ट के फैसले के बाद महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना की नेता शालिनी ठाकरे ने मांग की है कि निर्भया के दोषियों की फांसी का टीवी पर सीधा प्रसारण किया जाए। शालिनी ठाकरे ने ट्वीट करके ये मांग की है।

लोगों में जाए ये संदेश

लोगों में जाए ये संदेश

शालिनी ठाकरे ने ट्वीट करके लिखा कि निर्भया के दोषियों को फांसी के लिए कोर्ट ने डेथ वारंट जारी कर दिया है। चारो दोषियों पवन, अक्षय, विनय और मुकेश को 20 मार्च को सुबह 5.30 बजे फांसी दी जाएगी। इन दरिदों की फांसी का सीधा प्रसारण होना चाहिए ताकि देश के लोगों को यह संदेश जाए कि देश का कानून निर्भयाा और अन्य महिलाओं पर अत्याचार करने वालों को कठोर सजा देने में सक्षम है।

मां ने जताई उम्मीद

मां ने जताई उम्मीद

वहीं निर्भया के दोषियों को डेथ वारंट जारी होने के बाद निर्भया की मां ने कहा कि जब तक इन्हें फांसी नहीं मिलती तब तक संघर्ष जारी रहेगा। 20 मार्च की सुबह हमारे जीवन की सुबह होगी। मरते वक्त निर्भया ने यह सुनिश्चित करने के लिए कहा था कि उन्हें ऐसी सजा मिले कि ऐसा अपराध कभी दोहराया न जाए। अभियोजन पक्ष की याचिका पर गुरुवार को अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश डी. राणा ने दोषियों के खिलाफ नया और चौथा डेथ वारंट जारी किया है। आदेश के मुताबिक चारों दोषियों को तिहाड़ जेल में ही फांसी दी जाएगी। कोर्ट के आदेश के पहले निर्भया की मां आशा देवी ने कहा था कि हमने नया आवेदन दाखिल किया है। उम्मीद करते हैं कि ये डेथ वारंट आखिरी होगा।

3 मार्च को होनी थी फांसी

3 मार्च को होनी थी फांसी

बता दें कि दोषियों के खिलाफ इससे पहले भी तीन बार डेथ वारंट जारी हो चुका था लेकिन किसी ना किसी कानूनी विकल्प से वह खुद को बचाते आ रहे हैं। तीसरे डेथ वारंट के मुताबिक दोषियों को 3 मार्च को फांसी दी जानी थी लेकिन दोषी पवन की दया याचिका राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पास लंबित होने की वजह से एक बार फिर आदेश को टाल दिया गया था।

इसे भी पढ़ें- लखनऊ हिंसा के उपद्रवियों के पोस्टर योगी सरकार ने शहर के चौराहों पर लगवाए

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
MNS leader Shalini Thackeray demands live telecast of Nirbhaya convicts hanging.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X