• search

मिलिए मेघना साहू से जो बनी हैं OLA कैब की पहली ट्रांसजेंडर ड्राइवर, महीने में कमाती हैं इतना

By Ankur Kumar Srivastava
Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    भुवनेश्‍वर। ट्रांसजेंडर यानी कि किन्नर जिनका नाम सुनते ही अक्सर सबसे पहले सार्वजनिक स्थानों पर, बसों-ट्रेनों में लोगों से पैसा मांगने वालों की छवि ही सामने आती है। लोगों की इसी सोच को बदलने के लिए ओडिशा की ट्रांसजेंडर मेघना साहू बन गईं ओला कैब्स की पहली ट्रांसजेंडर ड्राईवर। ओला कैब (OLA Cab) में नौकरी करके वह करीब 30 हजार रूपये आसानी से कमा लेती हैं। मेघना का कहना है कि जब महिलाएं पुरुषों की बराबरी पर हैं तो हम किन्नर क्यों नहीं? वमेघना बताती हैं कि क्षेत्रीय लोगों और आरटीओ के सहयोग से कामर्शियल ड्राइविंग लाइसेंस हासिल करने में सफल रहीं, वरना यह कठीन काम था। विस्‍तार से जानिए सबकुछ

    कौन हैं मेघना साहू

    कौन हैं मेघना साहू

    मेघना ओडिशा के भुवनेश्वर की रहने वाली हैं। उनकी उम्र 28 साल हैं। उन्होंने एचआर एंड मार्केटिंग से एमबीए किया है। एक ट्रांसजेंडर होने की वजह से उन्हें शुरू से ही भेदभाव का सामना करना पड़ा। जिस वजह से उन्हें नौकरी और शिक्षा प्राप्त करने में भी परेशानी आई। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक ओला कैब में ड्राइवर के पद पर वह करीब प्रतिदिन 8 घंटे काम कर के 30 हजार रूपये आसानी से कमा लेती हैं। बता दें, ओला में नौकरी मिलने से पहले वह एक फार्मा कंपनी में काम करती थीं. जहां उन्हें भेदभाव का शिकार होना पड़ा था।

    क्‍या कहती हैं मेघना साहू

    क्‍या कहती हैं मेघना साहू

    मेघना कहती हैं, "मैंने अपने साथियों के समान अवसर और सम्मानजनक जीविका पाने के लिए बहुत संघर्ष किया है। ओला के साथ जुड़ कर मुझे बहुत अधिक खुलापन और आज़ादी मिली है। इसके अलावा, मैं लोगों को ट्रांसजेंडर के प्रति रखने वाले भावों को बदलने की भूमिका निभाने में सक्षम हूं।" ऐसे देश में जहां ट्रांसजेंडर्स को कमर्शियल ड्राइविंग लाइसेंस मिलना बहुत चुनौतीपूर्ण है, वहीं ओडिशा में स्थानीय आरटीओ और परिवहन विभाग ने मेघाना के मामले में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

    इसे भी पढ़ें-VIDEO: मतदान से पहले बिहार के नेताओं की नेपाल में 'अय्याशी', नशे में धुत होकर बार गर्ल्‍स संग लगाए ठुमके

    महिला यात्री सुरक्षित महसूस करती हैं

    महिला यात्री सुरक्षित महसूस करती हैं

    एक कैबी के रूप में अपने अनुभव के बारे में बोलते हुए, वह कहती हैं, "अब तक मेरे सभी ग्राहक मेरे लिए अच्छे रहे हैं। विशेष रूप से महिला यात्री मेरी कैब में सुरक्षित महसूस करती हैं। इसके अलावा पुरुष ग्राहकों के साथ भी कोई कठिनाई नहीं होती है।" मेघना एक स्विफ्ट डिज़ायर कार की मालकिन हैं । उन्होंने एक संभावित नौकरी के लिए, पिछले साल कैब एग्रीगेटर से संपर्क किया।

    मेघना ने किया है लव मैरिज, 6 साल का है एक बेटा

    मेघना ने किया है लव मैरिज, 6 साल का है एक बेटा

    आपको जानकर हैरानी होगी लेकिन मेघना ने पिछले साल एक पुरुष के साथ विवाह कर के लोगों के मन में बसी रुढ़िवादी विचारधारा पर सोचने को मजबूर कर दिया था। बता दें, उनके पास एक छह साल का बेटा भी है। घना को कब वासुदेव से प्यार हुआ और कब वह विवाह के बंधन में बंध गयी, यह सबकुछ जल्दी-जल्दी हो गया। सार्वजनिक रूप से, बाजे-गाजे के साथ। 26 जनवरी, 2017 को जब भुवनेश्वर शहर के जाने माने लोगों समेत मेहमानों की भारी उपस्थिति में 28 साल की ट्रांसजेंडर मेघना साहू की शादी 32 साल के सामान्य युवक वासुदेव नायक के साथ हुई तो लोग भौंचक्के रह गए। ट्रांसजेंडरों के लिए काम कर रही संस्था ‘ओडिशा किन्नर महासंघ' की मानें तो 2014 में सुप्रीम कोर्ट द्वारा ट्रांसजेंडरों को ‘तीसरे लिंग' के रूप में स्वीकृति दिए जाने के बाद भारत में यह अपनी तरह की पहली शादी थी। शादी पूरी तरह से हिन्दू रीति रिवाज़ के अनुसार हुई।

    VIDEO: प्रेमिका को लेकर भागने के आरोपी को जानवरों की तरह उल्‍टा लटका कर पीटा

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    A Master of Business Administration (MBA) in Human Resource (HR) and Marketing, Meghna Sahoo is India’s first transgender cab driver, hailing from Bhubaneswar.

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more