• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

शहीद पिंटू कुमार को श्रद्धांजलि देने नहीं पहुंचे बिहार सरकार के कोई मंत्री, उठे सवाल तो प्रशांत किशोर बोले- हमसे हुई भूल

|

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के हंदवाड़ा में शहीद हुए सीआरपीएफ जवान पिंटू कुमार सिंह का पार्थिव शरीर जब पटना एयरपोर्ट पहुंचा तो वहां बिहार की एनडीए सरकार की तरफ से कोई नेता या मंत्री उपस्थित नहीं थे। ये हाल तब था जब पटना में एनडीए की संकल्प रैली का रविवार को आयोजन किया गया, इस रैली में गठबंधन के प्रमुख नेता शामिल होने के लिए पहुंचे थे। हालांकि रैली की तैयारियों में जुटे हुए पार्टी के नेताओं में से किसी को भी शहीद पिंटू कुमार की याद नहीं आई, कोई भी नेता पटना एयरपोर्ट पर शहीद को श्रद्धांजलि देने के लिए नहीं पहुंचा।

शहीद को श्रद्धांजलि देने नहीं पहुंचे कोई मंत्री, उठे सवाल

शहीद के परिजनों की ओर से इस पर सवाल उठाए जाने के बाद जेडीयू के नेता और पार्टी के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने ट्वीट किया है। उन्होंने अपने ट्वीट में शहीद के परिजनों से माफी मांगी है।

प्रशांत किशोर ने ट्वीट कर कहा- मैं सभी की ओर से माफी मांगता हूं

जेडीयू नेता प्रशांत किशोर ने ट्वीट करके कहा, "इस दुख की घड़ी में हमें आपके साथ होना चाहिए था। हमारी ओर से भूल हुई, मैं उन सभी लोगों की ओर से माफी मांगता हूं।" प्रशांत किशोर ने शहीद पिंटू कुमार के परिजन का वीडियो शेयर करते हुए ये ट्वीट किया। दरअसल, जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में आतंकियों के साथ मुठभेड़ के दौरान बिहार के लाल पिंटू कुमार सिंह शहीद हो गए। रविवार को उनका पार्थिव शरीर पटना एयरपोर्ट पहुंचा, लेकिन इस दौरान उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए वहां सत्ताधारी पार्टी के कोई भी नेता मौजूद नहीं थे।

इसे भी पढ़ें:- नहीं बाज आया पाकिस्तान, बिना छुए ही विंग कमांडर अभिनंदन का किया मानसिक उत्पीड़न

सरकार के रवैये पर शहीद पिंटू सिंह के परिजनों ने उठाए थे सवाल

सरकार के रवैये पर शहीद पिंटू सिंह के परिजनों ने उठाए थे सवाल

जानकारी के मुताबिक शहीद पिंटू कुमार सिंह का पार्थिव शरीर सुबह करीब 8 बजकर 15 मिनट पर पटना एयरपोर्ट लाया गया, लेकिन इस दौरान सत्ताधारी दल का कोई भी नुमाइंदा शहीद के पार्थिव शरीर को श्रद्धांजलि देने नहीं पहुंचा था। पटना एयरपोर्ट पर शहीद जवान को श्रद्धांजलि देने के लिए न तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आए और न ही उनकी कैबिनेट के कोई भी सहयोगी नजर आए। इसी को लेकर शहीद के परिजनों ने सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि शहीद को तो बाद में भी देखा जा सकता है, मंत्री जी को क्या लेना है, वो तो अपनी कुर्सी बचाने के फेर में लगे हैं। उनके नहीं आने से पता चलता है कि हमारी सरकार सेना के पीछे कितना मदद कर रही है।

शहीद पिंटू सिंह की चिता को उनकी चार साल की बेटी ने दी मुखाग्नि

शहीद पिंटू सिंह की चिता को उनकी चार साल की बेटी ने दी मुखाग्नि

बता दें कि पटना एयरपोर्ट पर शहीद सीआरपीएफ जवान पिंटू कुमार सिंह को एसएसपी गरिमा मलिक, सीआरपीएफ के डीआईजी नीरज कुमार और एचएस मल सहित सीआरपीएफ के बड़े अधिकारियों ने श्रद्धांजलि दी। जिसके बाद उनका पार्थिव शरीर बेगूसराय ले जाया गया। रविवार को बेगूसराय जिले स्थित उनके पैतृक गांव में राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। उनकी चार साल बेटी ने उनकी चिता को मुखाग्नि दी।

शहीद पिंटू कुमार सिंह को अंतिम विदाई देने भारी संख्या में लोग हुए शामिल, देखिए VIDEO

इसे भी पढ़ें:- केंद्रीय मंत्री का दावा- 2019 लोकसभा चुनाव में बीजेपी को आएंगी इतनी सीटें

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Martyr pintu kumar singh kin rue absence any minister at Patna airport, prashant kishor apologizes
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X