• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

लिपुलेख-धाराचूला सड़क मुद्दाः नेपाली रक्षा मंत्री के बाद अब नेपाली PM ने दिया विवादित बयान, जानिए क्या कहा?

|

नई दिल्ली। लिपुलेख-धाराचूला सड़क निर्माण को लेकर भारत के खिलाफ आक्रामक तेवर चीन की गोद में खेल रहे नेपाल को मिर्ची लग गई है। ताजा उदाहरण नेपाली प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने तेवर और उनके भारत को लेकर पर विवादित बयान से समझा जा सकता है। नेपाली पीएम का आरोप है कि भारत के लोग नेपाल में कोरोना वायरस के संक्रमण को फैला रहे हैं।

oli

पीएम ओली का आरोप है कि भारत से आने वाले लोग बिना उचित जांच के नेपाल रहे हैं। हालांकि नेपाली रक्षा मंत्री और नेपाली पीएम के बयानों के संदर्भ को लिपुलेख-धाराचूला सड़क निर्माण से जोड़कर देखा जा रहा है। इससे पहले नेपाली रक्षा मंत्री ईश्वर पोखरेल ने भारतीय सेना प्रमुख द्वारा की गई टिप्पणी पर नेपाल का अपमान बताया था।

oli

साल 2012 में Indian Army चीफ जनरल नरवाणे ने चीन पर की थी भविष्‍यवाणी, अब सच होने लगी

दरअसल, भारतीय सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवणे ने संकेत देते हुए कहा था कि नेपाल लिपुलेख मुद्दा उठाने के पीछे कोई विदेशी ताकत हो सकती है, लेकिन बयान से तुनके नेपाली रक्षा मंत्री रक्षा मंत्री ईश्वर पोखरेल ने बयान को राजनीतिक करार देते हुए उसे अनुचित करार दिया। एक नेपाली अखबार को दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि भारतीय सेना प्रमुख ने नेपाली गोरखा जवानों की भावनाओं को भी आहत किया है।

oli

LAC पर चीन ने तैनात किए 5000 सैनिक, जवाब में भारत ने भेजीं सैन्य टुकड़ियां

भारतीय सेना प्रमुख जनरल नरवणे ने लिपुलेख-धाराचूला सड़क निर्माण को लेकर नेपाल के विरोध पर संकेत देते हुए कहा था, मुझे नहीं पता कि असल में वे किस लिए गुस्‍सा कर रहे हैं। पहले तो कभी प्रॉब्‍लम नहीं हुई, किसी और के इशारे पर ये मुद्दे उठा रहे हों, यह एक संभावना है।

Ishwor Pokhrel

चीन ने दक्षिण चीन सागर पर गैर-कानूनी दखल से किया इनकार, लेकिन रक्षा बजट पर सवाल बरकरार!

गौरतलब है जनरल नरवणे ने भले ही चीन का नाम भले ना लिया गया हो, लेकिन नेपाल में उसका दखल किसी से छिपा नहीं है। नेपाल के राजदूत ने भी कहा कि काली नदी के ईस्ट साइड का एरिया उनका है, इसे लेकर कोई विवाद नहीं है। आर्मी चीफ ने कहा था कि जो रोड बनी है वह नदी के पश्चिम की तरफ बनी है, तो मुझे नहीं पता कि वह असल में किस चीज को लेकर विरोध कर रहे हैं।

बॉर्डर पर तनाव और कोरोना वायरस के बीच भारत से अपने नागरिकों को निकालेगा चीन!

    India Nepal Border Tension: भारत से लगे बॉर्डर पर Road बनाने में जुटा नेपाल | वनइंडिया हिंदी
    रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने धारचूला से लिपुलेख रोड का उद्घाटन किया

    रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने धारचूला से लिपुलेख रोड का उद्घाटन किया

    पिछले दिनों धारचूला से लिपुलेख तक नई रोड का रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की ओर से उद्घाटन किया गया था, जिस पर काठमांडू ने आपत्ति जताई थी। इस रोड से कैलाश मानसरोवर जाने वाले तीर्थ यात्रियों की दूरी कम हो जाएगी। इस मुद्दे को लेकर नेपाल के विदेश मंत्री प्रदीप कुमार ग्‍यावली ने भारत के राजदूत विनय मोहन क्‍वात्रा को तलब कर लिया था।

    उत्‍तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में निर्मित मार्ग पूरी तरह भारत के इलाके में हैं

    उत्‍तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में निर्मित मार्ग पूरी तरह भारत के इलाके में हैं

    भारत ने अपनी स्थिति साफ करते हुए कहा था कि 'उत्‍तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में निर्मित मार्ग पूरी तरह भारत के इलाके में हैं। ग्‍यावली ने सोमवार को एक ट्वीट में जानकारी दी थी कि कैबिनेट ने 7 प्रान्‍त, 77 जिलों और 753 स्‍थानीय निकायों वाले नेपाल का नक्‍शा प्रकाशित करने का निर्णय लिया है। इसमें लिंपियाधुरा, लिपुलेक और कालापानी भी होंगे।

    विरोध के बाद भी नेपाल ने नया राजनीतिक व प्रशासनिक नक्‍शा जारी किया

    विरोध के बाद भी नेपाल ने नया राजनीतिक व प्रशासनिक नक्‍शा जारी किया

    भारत सरकार के विरोध के बाद भी नेपाल सरकार ने अपने देश का नया राजनीतिक और प्रशासनिक नक्‍शा जारी कर दिया। नए नक्‍शे में नेपाल ने लिपुलेख, कालापानी और लिंपियाधुरा के कुल 395 वर्ग किलोमीटर के भारतीय इलाके को अपना बताया है। नेपाल के भू प्रबंधन और सुधार मंत्रालय की ओर से मंत्री पद्मा अरयाल ने नेपाल का यह नया नक्‍शा जारी किया।

    नेपाल में सोमवार को कोरोना वायरस के 72 नए मामले सामने आए

    नेपाल में सोमवार को कोरोना वायरस के 72 नए मामले सामने आए

    जिससे देश में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 675 हो गई। नेपाल में पिछले कुछ दिनों से कोरोना के मामले तेजी से बढ़े हैं। नेपाल ने कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए देशव्यापी लॉकडाउन दो जून तक के लिए बढ़ा दिया है। नेपाल उन देशों में से है जहां कोराना वायरस के मामले सबसे कम आए हैं। स्वास्थ्य और जनसंख्या मंत्रालय के अनुसार सोमवार को संक्रमण के 72 नए मामले सामने आए।

    वुहान से निकले वायरस के मुकाबले भारतीय वायरस ज्यादा खतरनाक: ओली

    वुहान से निकले वायरस के मुकाबले भारतीय वायरस ज्यादा खतरनाक: ओली

    यह पहली बार नहीं है जब नेपाली पीएम ने कोरोना को लेकर भारत पर आरोप लगाया है। इससे पहले भी उन्होंने कहा था कि चीन के वुहान से निकले वायरस के मुकाबले ‘भारतीय वायरस' ज्यादा खतरनाक है। नेपाली पीएम ने अपने देश में कोरोनावायरस के प्रसार के लिए भारत को दोषी ठहराते हुए कहा, ‘चीनी और इतालवी की तुलना में भारत का वायरस "अधिक घातक" लगता है।

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Nepal, playing an aggressive attitude against India in the lap of Lipulekh-Dharachula road, has got angry. The latest example can be understood from the disputed statement made by Nepali Prime Minister KP Sharma Oli regarding Tvar and his India. Nepali PM alleges that people of India are spreading the corona virus infection in Nepal.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X