• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कानपुर एनकाउंटर का मुख्य आरोपी विकास दुबे उज्जैन से गिरफ्तार

|

उज्जैन। कानपुर एनकाउंटर के मुख्य आरोपी विकास दुबे को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। विकास दुबे को गुरुवार को मध्य प्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस कई दिनों से इस कुख्यात आरोपी की तलाश में जुटी थी। जानकारी के मुताबिक विकास दुबे जब उज्जैन के महाकाल मंदिर जा रहा था, तब उसे एक सुरक्षाकर्मी ने पहचान लिया। जिसके बाद इसकी सूचना पुलिस को दी गई, जिसके बाद पुलिस ने उसे पकड़ लिया। बता दें कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव में कुख्यात अपराधी विकास दुबे और उसके साथियों से मुठभेड़ में डीएसपी देवेंद्र मिश्र समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। तभी से पुलिस इनकी तलाश में जुटी थी।

लगातार खोज में जुटी रही पुलिस

लगातार खोज में जुटी रही पुलिस

बता दें कि मोस्‍टवांटेंड गैंगस्‍टर विकास दुबे को खोजने में पूरा पुलिस महकमा जुटा हुआ था, कल फरीदाबाद में विकास दुबे का होने का दावा किया गया था। एक सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा था कि वह ऑटो में सवार होकर जा रहा है। विकास दुबे के नोएडा में फिल्म सिटी में सरेंडर करने को लेकर दिनभर सूचना चलती रही। इन सूचना को लेकर फिल्म सिटी के चप्पे-चप्पे पर सुबह से लेकर देर रात तक भारी पुलिस बल तैनात रहा। अब गुरुवार को उसे उज्जैन से गिरफ्तार किया गया है।

    Vikas Dubey Arrest के बाद बोला, मैं विकास दुबे हूं Kanpur वाला | Kanpur Encounter | वनइंडिया हिंदी
    विकास दुबे पर 60 से ज्यादा केस दर्ज हैं

    विकास दुबे पर 60 से ज्यादा केस दर्ज हैं

    विकास दुबे पिछले 7 दिनों से फरार चल रहा था, यूपी एसटीएफ और पुलिस की लाख कोशिशों के बावजूद भी वो पुलिस की गिरफ्त से दूर था, जुर्म की दुनिया का खौफनाक नाम विकास दुबे वही अपराधी है, जिसने साल 2001 में राजनाथ सिंह सरकार में मंत्री का दर्जा पाए संतोष शुक्ला की थाने में घुसकर हत्या की थी, हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के खिलाफ 60 से ज्यादा केस दर्ज हैं और अब उसके सिर पर इनाम की राशि भी बढ़ा दी गई थी, उसकी खबर देने वाले को पांच लाख रुपये इनाम देने की घोषणा की गई थी।

    करीबी प्रभात मिश्रा और रणबीर शुक्ला मारे गए

    करीबी प्रभात मिश्रा और रणबीर शुक्ला मारे गए

    इससे पहले उसके बेहद करीबी प्रभात मिश्रा और रणबीर शुक्ला को पुलिस ने एनकाउंटर में ढेर कर दिया है, बता दें कि प्रभात मिश्रा को पुलिस ने फरीदाबाद के होटल से गिरफ्तार किया था, पुलिस का कहना है कि प्रभात हिरासत से भागने की कोशिश कर रहा था, इस दौरान पुलिस को उसके ऊपर गोलियां चलानी पड़ीं। वहीं विकास दुबे का एक दूसरा साथी रणवीर उर्फ बम्मन भी इटावा में हुई मुठभेड़ में मारा गया है उसके ऊपर 50000 का इनाम भी घोषित था।

    आईजी मोहित अग्रवाल ने क्या कहा?

    आईजी मोहित अग्रवाल ने क्या कहा?

    इस मामले में बात करते हुए आईजी मोहित अग्रवाल ने कहा कि पुलिस टीम प्रभात मिश्रा को ट्रांजिट रिमांड पर कानपुर ला रही थी, हाइवे पर रास्ते में गाड़ी पंचर हो गई, इस दौरान प्रभात ने पुलिस पर हमला कर दिया और हथियार छीनकर भागने की कोशिश की, जिसकी वजह से उस पर गोली चलानी पड़ी, इस एनकाउंटर में कुछ पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं।

    रणवीर उर्फ बम्मन इटावा में मारा गया

    रणवीर उर्फ बम्मन इटावा में मारा गया

    तो वहीं रणवीर उर्फ बम्मन का एनकाउंटर इटावा में हुआ है, दरअसल देर रात थाना सिविल लाइन क्षेत्र से स्विफ्ट डिजायर गाड़ी लूटकर भाग रहे बदमाश पर पुलिस ने फायरिंग शुरू की, इस फायरिंग के दौरान एक बदमाश मारा गया, जिसकी पहचान विकास दुबे के करीबी रणबीर शुक्ला के रूप में हुई, हालांकि, उसके तीन साथी भागने में कामयाब रहे, फिलहाल इटावा पुलिस ने आस-पास के जिले को अलर्ट कर दिया है, रणवीर भी कानपुर एनकाउंटर का एक आरोपी था।

    पुलिस को मिली कॉल रिकार्डिंग से हुआ खुलासा, जानिए एक फोन कॉल के बाद विकास दुबे ने कैसे रचा था खूनी चक्रव्यूह?

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    kanpur encounter most wanted gangster vikas dubey is arrested in ujjain on thursday
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X