• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

इंडो-चीन विवाद पर बोले थरूर-पूरा देश जवानों के साथ लेकिन सरकार को सवालों के जवाब देने ही होंगे

|

नई दिल्ली। सोमवार को संसद के मानसूत्र सत्र की शुरुआत हुई है, आज सबसे पहले पीएम मोदी समेत सभी सांसदों ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को श्रद्धांजलि दी, बता दें कि संसद में सभी सांसद मास्क और फेश शिल्ड लगाकर आए हैं, कोरोना महामारी के कारण इस बार के सत्र में कई बदलाव किए गए हैं, लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही इस बार अलग-अलग चलाने का फैसला लिया गया है तो वहीं, इस बार प्रश्नकाल भी नहीं होगा, इस सत्र में LAC पर चीन के साथ जारी तनाव और कोरोना महामारी के मुद्दे पर विपक्ष सरकार को घेरने की तैयारी में है, आज राज्यसभा में उपसभापति का चुनाव भी है, मुकाबला हरिवंश और मनोज झा के बीच है, हरिवंश NDA के उम्मीदवार हैं तो मनोज झा विपक्ष की ओर से मैदान में हैं।

    PM Modi ने जवानों का किया जिक्र तो Kapil Sibal ने सरकार की नीतियों पर उठाए सवाल | वनइंडिया हिंदी

    सरकार को सवालों के जवाब देने ही होंगे: शशि थरूर

    तो वहीं आज कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने लोकसभा में चीन के मुद्दे पर स्थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया है, इस बारे में बात करते हुए कांग्रेस के दिग्गज नेता और तिरुवंनतपुरम से सांसद शशि थरूर ने कहा कि सरकार को विपक्ष को सवाल पूछने देना चाहिए, सरकार इसके लिए उत्तरदायी है, वो ऐसे सवालों से भाग नहीं सकती है, सरकार को देश को विश्वास में लेना चाहिए, सेना के सपॉर्ट पर कोई बहस ही नहीं है, हम सब अपने जवानों के साथ हैं लेकिन सरकार को जवाब देना होगा, फिलहाल पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को श्रद्धांजलि देने के बाद लोकसभा की कार्यवाही एक घंटे के लिए स्थगित कर दी गई है।

    सरकार को सवालों के जवाब देने ही होंगे: शशि थरूर

    मालूम हो कि सत्र की शुरुआत से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मीडिया को संबोधित किया, उन्होंने कहा कि एक विशिष्ट वातावरण में संसद का सत्र शुरू हो रहा है, एक तरफ कोरोना है और दूसरी तरफ कर्तव्य। सांसदों ने कर्तव्य का पथ चुना है। मैं उन्हें धन्यवाद देता हूं। इस बार लोकसभा और राज्यसभा अलग-अलग समय पर चलेगी। इस बार शनिवार और रविवार को भी सदन चलेगा। सभी सांसद इस पर सहमत हैं।

    'जब तक कोरोना की दवाई नहीं, तब तक कोई ढिलाई नहीं'

    पीएम ने इस दौरान सांसदों से चीन सीमा के मुद्दे पर एक स्वर में सैनिकों के साथ खड़े होने की बात कही। पीएम ने कहा कि जब तक कोरोना की दवाई नहीं, तब तक कोई ढिलाई नहीं। हम चाहते हैं कि दुनिया के किसी भी कोने में जल्दीसे जल्दी वैक्सीन बन जाए। हमारे वैज्ञानिक भी सफलता की ओर बढ़ रहे हैं।

    यह पढ़ें: पीएम मोदी, अमित शाह ने दी 'हिंदी दिवस' पर देशवासियों को शुभकामनाएं, कहा-देश की पहचान है भाषा

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Govt is accountable to Parliament. When have they reported to us on talks b/w Defence & Foreign Ministers (of India & China)? Nation needs to be taken into confidence by govt:Shashi Tharoor,Congress
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X