• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

जानीमानी मलयालम लेखिका अशिता का देर रात निधन

|

नई दिल्ली। मलयालम लेखिका और कवियित्री अशिता का 63 वर्ष की आयु में थ्रिसूर में निधन हो गया। वह काफी समय से कैंसर से जूझ रही थीं और उनका इलाज चल रहा था। अशिता को वर्ष 1986 मे सम्मानित इडासेरी अवार्ड और 1994 में ललितांबिका अंतर्जनम अवार्ड से सम्मानित किया गया था। उनके पति केवी रमनकुट्टी और एक बेटी उमा प्रसीदा हैं। पिछले काफी समय से अशिता कैंसर से लड़ रही थीं, लेकिन देर रात उनका एक प्राइवेट अस्पताल में निधन हो गया। उन्होंने अंतिम सांस 12.55 बजे ली।

ashita

अशिता का जन्म 5 अप्रैल 1956 को केरल के थ्रिसूर में में हुआ था। उन्होंने दिल्ली और बॉबे से अपनी पढ़ाई पूरी की थी। उन्होंने पीजी की पढ़ाई इर्नाकुलम के महाराजा कॉलेज से की थी, यहां उन्होंने इंग्लिश लिटरेचर से एमए किया था। अशिता की तकरीबन 20 किताबें पब्लिश हुई थी, जिसमे कविता, अनुवाद, बाल साहित्य शामिल है। उनकी विख्यात किताबों में विस्मय चिहंगल अपूर्णा वीरमंगल, अशिथयुडे कथकल, माझामेंगलम आदि हैं।

इसे भी पढ़ें- दंपति के साथ 2.17 करोड़ की ठगी के आरोप में भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव समेत 9 के खिलाफ FIR दर्ज

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Renouned Malyalam writer Ashita passes away at the age of 63.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X