• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Video: सड़क पर शर्मसार हुई मानवता, अर्धनग्न डॉक्टर के हाथ बांधकर उठा ले गई पुलिस

|

नई दिल्ली। पूरा देश कोरोना वायरस से लड़ रहा है। इस लड़ाई में डॉक्टर फ्रंटलाइन में खड़े हैं और मरीजों को बचाने के लिए अपनी परवाह नहीं कर रहे हैं। लेकिन इस बीच आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में डॉक्टर के साथ पुलिस का ऐसा बर्ताव सामने आया है, जिसे देखकर हर कोई शर्मसार हो जाएगा। दरअसल यहां एक डॉक्टर पीपीई किट की कमी को लेकर पिछले एक महीने से शिकायत कर रहे हैं, जिसके बाद सड़क पर पुलिस ने उनके साथ ऐसा बर्ताव किया, जिसकी आप कल्पना भी नहीं कर सकते हैं।

कपड़े उतारे, हाथ बांधा

कपड़े उतारे, हाथ बांधा

डॉक्टर के साथ पुलिस के इस अमानवीय बर्ताव का वीडियो भी सामने आया है, जोकि सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में देखा जा सकता है कि डॉक्टर के सुधाकर बिना शर्ट के हैं, उनके हाथ को बांध दिया गया है और उन्हें सड़क पर लेटा दिया। इसके बाद तमाम पुलिस वाले उन्हें सड़क से घसीटती है और फिर उठाकर ले जाती है।

लोग बने रहे मूकदर्शक

अहम बात यह है कि जब डॉक्टर सुधाकर के साथ यह अमानवीय बर्ताव हो रहा था तो वहां पर बड़ी संख्या में लोग खड़े थे, लेकिन वह वहां पर सिर्फ मूक दर्शक बने रहे। लोगों के सामने पुलिस डॉक्टर को सड़क से घसीटते हुए लेकर जाती है और ऑटोरिक्शा में बैठाती है, जहां से उन्हें पुलिस स्टेशन ले जाया जाता है। बता दें कि डॉक्टर सुधार नसरीपटनम सरकारी अस्पताल में डॉक्टर हैं। उन्हें पिछले महीने सस्पेंड कर दिया गया था क्योंकि उन्होंने पीपीई किट और एन-95 मास्क की कमी की शिकायत की थी।

क्या कहना है पुलिस का

घटना के सामने आने के बाद वाइजैग के पुलिस कमिश्नर आरके मीमा का कहना है कि सुधाकर नशे में थे और वह हाईवे पर उत्पात मचा रहे थे। वह पुलिसवालों के साथ गलत बर्ताव कर रहे थे। उन्होंने एक कॉन्स्टेबल का मोबाइल फोन छीन लिया था। यही नहीं डॉक्टर कुछ मानसिक समस्या से भी ग्रसित हैं। साथ ही कमिश्नर का कहना है कि वीडियो में जो कॉन्स्टेबल डॉक्टर को मारते हुए दिख रहा है उसे सस्पेंड कर दिया गया है। हमने डॉक्टर को किंग जॉर्ज अस्पताल में मेडिकल परीक्षण के लिए भेज दिया है। उनकी मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद हम उनके खिलाफ आईपीसी की उपयुक्त धाराओं के तहत केस दर्ज करेंगे।

पुलिस के साथ दुर्व्यवहार

इस घटना का एक और वीडियो सामने आया है जिसमे देखा जा सकता है कि डॉक्टर सुधाकर पुलिसवालों के साथ गाली गलौज कर रहे हैं। वह पुलिसवालों से कहते हैं कि तुम लोग मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी के लिए काम कर रहे हो जो दलितों की हत्या करवा रहे हैं।

इसे भी पढ़ें- देश में कोरोना वायरस का संक्रमण अपने चरम पर, 5034 नए मामले सामने आए

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Doctor who complained shortage of PPE and mask stripped, tied dragged by policemen.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X