दिल्ली में जल्द साफ होगा आसमान, मौसम विभाग ने हालात पर की भविष्यवाणी

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली और एनसीआर के दूसरे शहरों में छाई धुंध के बुधवार तक कम होने के आसार हैं। मौसम विभाग ने मंगलवार को धुंध के कम होने और अगले दिन सुबह आसमान साफ होने की संभावना जताई है।

smog

मौसम विभाग की ओर से यह जानकारी तब दी गई है जब शनिवार और रविवार को धुंध की वजह से विजिबलिटी 500 मीटर से भी कम थी। धुंध और कोहरे की वजह से दिल्ली एनसीआर का हाल बेहाल है।

पढ़ें: रिलायंस जियो के स्मार्टफोन में धमाका, आग लगने से पिघली स्क्रीन

नासा की तस्वीरों ने भी बताई वजह

रविवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राजधानी की खराब हवा के लिए पड़ोसी राज्यों में किसानों के फसलों और पुआल जलाने को असल वजह बताया था। नासा की ओर से जारी तस्वीरों से भी यह साफ हुआ है कि बीते हफ्ते में दिल्ली के आसपास के इलाकों में आग लगने से उठे धुएं ने भी मुसीबत बढ़ाई है।

जरा बचकर! यह हवा आपकी सेक्स लाइफ को प्रभावित कर सकती है

सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फॉरकास्टिंग एंड रिसर्च (SAFAR) ने बताया है कि सोमवार को पर्टिकुलेट मैटर (PM) 2.5 का स्तर 613 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर रहेगा, जो कि रविवार को 588 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर था।

पढ़ें: कश्मीर हिंसा में पाकिस्तानी सेना का हाथ, आतंकी ने किया खुलासा

इस वजह से बढ़ रही है धुंध

मौसम विभाग के मुताबिक अगले दो दिन हवा का रुख शांत ही रहने की संभावना है जबकि तापमान में लगातार गिरावट दर्ज होगी। धीमी गति से चलने वाली हवा, हवा में ज्यादा नमी और कम तापमान की वजह से ज्यादा धुंध हो रही है।

हवा की रफ्तार भी धीमी

रविवार को हवा की रफ्तार 1.5 मीटर से 0.3 मीटर प्रति सेकंड थी, जो कि साल में सबसे निचले स्तर पर थी। वहीं, हवा में नमी का स्तर भी 95 फीसदी से ज्यादा है। अनुमान लगाया जा रहा है कि इस साल सर्दियों में हवा चलेगी और मौसम में रूखापन रहेगा। अधिकारियों ने बताया कि दिवाली की रात से ही हवा की रफ्तार गिरने लगी थी।

तस्वीरें गवाह हैं, दिल्ली एनसीआर की हवा खराब है जनाब

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
delhi pollution mist in wednesday morning followed by clear sky says met.
Please Wait while comments are loading...