• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

गिरीश कर्नाड के निधन पर शोक संदेशों के बीच बताया जा रहा था 'हिंदू-विरोधी'

|

नई दिल्ली। जाने माने लेखक एक्टर डायरेक्टर और नाटरकार गिरीश कर्नाड का सोमवार को 81 साल की उम्र में निधन हो गया। लंबे वक्त से बीमार चल रहे गिरीश के निधन से साहित्य और सिनेमा से जुड़े लोग शोक में हैं। पीएम नरेंद्र मोदी ने भी गिरीश के निधन पर दुख व्यक्त किया। इसके अलावा कई दिग्गज हस्तियों ने गिरीश कर्नाड के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया। लेकिन इस बीच सोशल मीडिया पर कुछ ऐसे भी लोग थे जो गिरीश कर्नाड पर निशाना साध रहे थे।

कर्नाड ने की थी बीजेपी को सत्ता से बाहर करने की अपील

कर्नाड ने की थी बीजेपी को सत्ता से बाहर करने की अपील

गिरीश कर्नाड रंगमंच से जुड़ी देश की 600 से अधिक उन हस्तियों में शामिल थे जिन्होंने लोकसभा चुनाव से पहले पत्र लिख कर लोगों से कहा था कि वे 'वोट डाल कर भाजपा और उसके सहयोगियों' को सत्ता से बाहर करें। इन लोगों का कहना था कि भारत और देश का संविधान खतरे में है। उन्होंने पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के बाद विरोध प्रदर्शन की अगुवाई भी की थी।

ये भी पढ़ें: जानिए क्यों हुई 12 अफसरों पर मोदी की सर्जिकल स्ट्राइक, लंबे समय से थी नजर

'मी टू अर्बन नक्सल' की लटकाई थी तख्ती

'मी टू अर्बन नक्सल' की लटकाई थी तख्ती

पिछले साल एक कार्यक्रम के दौरान 'मी टू अर्बन नक्सल' यानी 'मैं भी शहरी नक्सली' लिखी तख्ती लटकाने की वजह से उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज हुई थी। भारतीय मूल के ब्रिटिश लेखक और नोबेल पुरस्कार विजेता वी.एस.नायपॉल के भारत में मुस्लिमों के प्रति विवादित नजरिए को लेकर कर्नाड ने उनपर निशाना साधा था और कहा था कि इस लेखक को कोई अंदाजा नहीं है कि इस समुदाय ने देश के इतिहास में किस हद तक योगदान दिया है।

हिंदू धर्म के लिए उनकी नफरत क्षमा के योग्य नहीं- एक यूजर ने लिखा

हिंदू धर्म के लिए उनकी नफरत क्षमा के योग्य नहीं- एक यूजर ने लिखा

कर्नाटक सरकार के टीपू सुल्तान जयंती मनाने को लेकर विवाद के दौरान भी उन्होंने बयान दिए थे। तब कर्नाड ने कहा था कि मैसूर के शासक अगर मुस्लिम की जगह हिंदू होते तो उन्हें भी छत्रपति शिवाजी की तरह सम्मान मिलता। कर्नाड के इस बयान की खासी आलोचना हुई थी। कर्नाड के निधन के बाद सोशल मीडिया पर तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं आ रही थीं। मनुजुला नागराज ने लिखा, 'हिंदू धर्म के लिए उनकी नफरत क्षमा के योग्य नहीं है। इतिहासकार रामचंद्र गुहा के शोक जताने वाले ट्वीट पर भी काफी तीखी प्रतिक्रियाएं आ रही थीं। इसके बाद कई यूजर्स ने अपमानजनक टिप्पणियों का हवाला देते हुए कर्नाटक के सीएम एचडी कुमारस्वामी और गृहमंत्री एमबी पाटिल से ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। इन लोगों ने सीएम को अपने ट्वीट में टैग किया और विवादित पोस्ट के स्क्रीनशॉट शेयर किए।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
controversial messages owing to girish karnad critic of Hindu extremism image, make way on social media
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X