• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

अयोध्या केस: SC में रामलला के वकील ने कहा- हिंदुओं का विश्वास राम का जन्म अयोध्या में हुआ था

|

नई दिल्ली। अयोध्‍या के बाबरी मस्जिद-राम मंदिर भूमि विवाद मामले की रोजाना सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में चल रही है। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में छठे दिन बुधवार को रामलला विराजमान के वकील ने अपनी दलीलें कोर्ट में रखीं। रामलला के वकील ने कहा कि हिंदुओं का विश्वास है कि अयोध्या भगवान राम का जन्मस्थान है और कोर्ट को इसके तर्कसंगत होने की जांच के लिए इससे आगे नहीं जाना चाहिए।

हिंदुओं का विश्वास है कि अयोध्या भगवान राम का जन्मस्थान है- वकील

हिंदुओं का विश्वास है कि अयोध्या भगवान राम का जन्मस्थान है- वकील

रामलला विराजमान के वकील सीएस वैद्यनाथन ने सीजेआई रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय बेंच के सामने दलीलें पेश करते हुए कहा कि राम जन्मभूमि पर स्थित किला बाबर या औरंगजेब ने तोड़ा था, वैश्विक स्तर पर लिखे गए इन तथ्यों में यह भ्रम है, लेकिन अयोध्या के राजा राम थे और उनका जन्म अयोध्या में हुआ था, इस पर कोई भ्रम किताबों में नहीं है। अयोध्या मामले की सुनवाई कर रही बेंच में सीजेआई रंजन गोगोई के अलावा जस्टिस एसए बोबडे, जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एसए नजीर शामिल हैं।

ये भी पढ़ें:जम्‍मू कश्‍मीर: राज्‍य की कानून व्‍यव्‍स्‍था में हो रहा है सुधार, डीआईजी ने दी जानकारीये भी पढ़ें:जम्‍मू कश्‍मीर: राज्‍य की कानून व्‍यव्‍स्‍था में हो रहा है सुधार, डीआईजी ने दी जानकारी

जन्मस्थान को लेकर कोई भ्रम नहीं- रामलला के वकील

जन्मस्थान को लेकर कोई भ्रम नहीं- रामलला के वकील

इसके पहले, मंगलवार को सुनवाई के दौरान रामलला के वकील सीएस वैद्यनाथन ने अपनी दलीलें पेश की थीं। सुनवाई के दौरान कोर्ट ने उनसे पूछा कि राम का जन्मस्थान कहां हैं? इस पर वकील ने कहा कि बाबरी मस्जिद का जहां गुंबद था उसी के नीचे। वकील ने कहा कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बाबरी मस्जिद के मुख्य गुंबद के नीचे वाले स्थान को भगवान राम का जन्मस्थान माना है। वकील ने कहा कि मुस्लिम पक्ष की तरफ से विवादित स्थल पर उनका मालिकाना हक साबित नहीं किया गया था।

अयोध्या मामले पर सुनवाई का छठा दिन

अयोध्या मामले पर सुनवाई का छठा दिन

उन्होंने ये भी कहा कि जब कभी हिंदू पूजा करने की खुली छूट मांगते हैं तो ये विवाद शुरू हो जाता है। वकील वैद्यनाथन ने कहा कि मस्जिद से पहले उस स्थान पर मंदिर था। उन्होंने कहा कि इसका कोई सबूत नहीं है कि बाबर ने ही वो मस्जिद बनाई थी। मुस्लिम पक्ष द्वारा ये दावा किया गया था कि उनके पास 438 साल से जमीन का अधिकार है, पर हाईकोर्ट ने भी उनकी इस दलील को नहीं माना था।

English summary
ayodhya case hearing in supreme court, ramlala lawyer says hindu belief that ram was born in ayodhya
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X