• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

यूपी में कांग्रेस की हार पर समीक्षा बैठक में भिड़ गए पार्टी के नेता, धक्का-मुक्की का VIDEO आया सामने

|

नई दिल्ली। लोकसभा चुनावों में करारी हार के बाद कांग्रेस पार्टी लगातार हार की समीक्षा के लिए बैठकें कर रही है। दिल्ली में मंगलवार को यूपी में पार्टी को मिली करारी हार के बाद समीक्षा बैठक बुलाई गई थी। जिसमें पश्चिमी उत्तर प्रदेश में पार्टी के बुरे प्रदर्शन को लेकर समीक्षा हुई। बैठक के बाद जब पार्टी के नेता ऑफिस के बाहर निकले को आपस में एक दूसरे से झगड़ते नजर आए। हालात हाथापाई तक पहुंच गए। मीटिंग के बाद पार्टी नेता केके मिश्रा ने हंगामे की वजह मीटिंग का देर से शुरू होना बताया

'मेरे पास गुलाम नबी आजाद के खिलाफ बताने को बहुत कुछ है'

'मेरे पास गुलाम नबी आजाद के खिलाफ बताने को बहुत कुछ है'

इस पूरे मामले पर बोलते हुए कांग्रेसी नेता केके शर्मा ने कहा कि, हम यहां सुबह 10 बजे से हैं, लेकिन बैठक दोपहर 3 बजे आयोजित की गई। उच्च पदों पर आसीन पार्टी के नेता सही सदस्यों के साथ मीटिंग किए बगैर निर्णय ले ले रहे, यह चुनाव के नतीजों के लिए भी जिम्मेदार है। मैंने बैठक में ज्योतिरादित्य सिंधिया जी को बताया कि, मेरे पास गुलाम नबी आजाद के खिलाफ बताने को बहुत कुछ है, लेकिन मेरी बातों पर गौर नहीं किया गया।

हार की समीक्षा के लिए कांग्रेस के 10 जिलों के नेताओं को बुलाया गया था

गाजियाबाद के एक प्रभारी ने गाजियाबाद के प्रत्याशी पर गंभीर आरोप लगाया। प्रभारी ने दावा किया कि गाजियाबाद के प्रत्याशी को टिकट भारी दबाव के चलते दिया बांटा गया था। पार्टी नेताओं ने दावा किया कि पार्टी के बड़े नेता कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को भ्रमित कर रहे थे। दिल्ली के गुरुद्वारा रकाबगंज परिसर में मंगलवार को पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हार की समीक्षा के लिए कांग्रेस के 10 जिलों के नेताओं को बुलाया गया था।

कांग्रेस नेता बैठक के बाद बाहर आए तो एक दूसरे से भिड़ पड़े

जानकारी के मुताबिक पहले कांग्रेस नेता परिसर के अंदर आपस में भिड़े गए, यही नहीं उनकी ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ भी तू-तू मै-मैं हो गई। मामला यहीं शांत नहीं हुआ। जब कांग्रेस नेता बैठक के बाद बाहर आए तो एक दूसरे से भिड़ पड़े। जिसके बाद वहां पर मौजूद अन्य नेताओं ने उन्हें समझाकर अलग किया। एक नेता ने आरोप लगाया कि पार्टी के शीर्ष नेता राहुल गांधी देश में अकेले संघर्ष कर रहे हैं।

अनिल अंबानी ने 14 महीनों में चुकाया 35 हजार करोड़ का कर्ज, देरी के लिए अदालत को ठहराया जिम्मेदार

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Argument between Congress leaders from Western Uttar Pradesh following a review meeting in Delhi
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X