जेल से घर तक तो खामोश गईं नूपुर तलवार, मां को देख खुद को ना रोक सकीं

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। अपनी बेटी आरुषि की हत्या के केस में बीते हफ्ते इलाहाबाद हाईकोर्ट से बरी होने के आज (सोमवार) डॉक्टर राजेश और उनकी नूपुर तलवार रिहा हो गए। डासना जेल से रिहाई के दौरान राजेश तलवार और नूपुर से बात करने को मीडिया का हुजूम खड़ा था लेकिन वो बिना किसी से कोई बात किए कार में बैठकर निकल गए।

Aarushi murder case: Nupur, Rajesh Talwar first reaction after walk free

सोमवार को करीब शाम पांच बजे राजेश और नूपुर तलवार जेल से बाहर आए दोनों हाथ में बैग लिए हुए थे। इससे पहले दोनों ने जेल में कैदी के तौर पर कमाए 99 हजार रुपए जेल अथॉरिटी को गरीबों को देने के लिए दान में दे दिया। राजेश तलवार ने डासना जेल में चार साल गुजारे हैं। जेल के सामने खामोश दिख रही नूपुर घर जाकर अपनी मां से मिलीं तो खुद को रोक ना सकीं और उनके गले लग फूट-फूट कर रोईं।

जेल से बाहर आने के बाद तलवार दंपति ने तो खामोशी अख्तियार करके रखी लेकिन उनके वकील ने अपने मुवक्किल के लिए लोगों से शान्ति मांगी। तलवार के वकील ने कहा कि उनके साथ इंसाफ हुआ है। कोई भी ऐसा कोई शख्स नहीं है जिसे उनके निर्दोष होने पर शक हो। हम सबसे गुजारिश करते हैं कि उनको उनका खोया हुआ सम्मान, आदर लौटा दें। उन्हें अब शांति से जीने दें।

Aarushi Murder Case : डासना जेल से रिहा हुए तलवार दंपति, चार साल बाद खुली हवा में ली सांस

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Aarushi murder case: Nupur, Rajesh Talwar first reaction after walk free
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.