• search
गोरखपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

बेहोश नहीं यहां हाथ-पैर बांधकर किया जाता है ऑपरेशन,कुछ ऐसा है बीआरडी मेडिकल कॉलेज का हाल

गोरखपुर बीआरडी मेडिकल कॉलेज में एक ऐसा मामला सामने आया है,जहां डॉक्टरों ने एक महिला का ऑपरेशन बिना उसे बेहोश किए कर दिया है। महिला की शिकायत पर मामले की छानबीन की जा रही है।
Google Oneindia News

Gorakhpur News: गोरखपुर स्थित बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों ने इस कॉलेज की छवि खराब करने की मानो कसम खा रखी हो। आए दिन ऐसे मामले देखने को मिल रहे हैं जो संस्थान के प्रति लोगों के विश्वास को खत्म करते नजर आ रहे हैं। अभी कुछ दिन पूर्व गर्भवती महिला की इलाज में लापरवाही की वजह से मौत हो गयी थी। इस मामले में सीएमएस को निलंबित भी किया गया था। इसके बाद भी यहां कोई सुधार नहीं दिख रही है। एक महिला ने यहां के डॉक्टर पर हाथ-पैर बांधकर जबरन ऑपरेशन करने का आरोप लगाया है। डॉक्टर ने उसे बिना बेहोश किए ही आपरेशन कर दिया।

brd

जानकारी के मुताबिक, माया बाजार की नीलम गुप्ता को पेशाब की नली में 8.6 एमएम की पथरी थी। उन्होंने मेडिकल कालेज के यूरोलाजिस्ट डॉ. पवन कुमार से संपर्क किया। नीलम के अनुसार डाक्टर ने बताया कि मेडिकल कालेज में दूरबीन नहीं है, इसे बाहर से मंगाना पड़ेगा, जिसका किराया आठ हजार रुपये है। वह देने को राजी हो गईं। 21 नवंबर को डाक्टर ने उन्हें बेहोश कर उनका आपरेशन किया। इसके बाद भी उनका दर्द बढ़ता गया। दवा के बाद भी जब आराम नहीं मिला तो उन्होंने पुन: अल्ट्रासाउंड कराया। उसमें 8.1 एमएम की पथरी नजर आई।

महिला ने डॉक्टर पर आरोप लगाया है कि डॉक्टर ने ऑपरेशन थियेटर में बेड पर मेरा हाथ-पैर बांध दिया। पूछने पर डॉक्टर ने कहा कि यह जांच का हिस्सा है । हाथ-पैर बांधना जरुरी है। इसके बाद बिना बेहोश किए पेशाब की नली में दूरबीन डालकर पथरी तोड़ने लगे। बाहर आकर महिला ने पति से इसकी शिकायत की। उन्होंने इसे नजरअंदाज कर दिया और घर चले आए। इसके बाद भी दर्द कम नहीं हुआ और पेशाब रुक गया। पुन: अल्ट्रासाउंड कराने पर पता चला कि पथरी तो नहीं है लेकिन पेशाब की नली के पास घाव हो गया है और वहां मवाद बन रहा है। दोबारा महिला मेडिकल कालेज जाने को राजी नहीं हुई। उसका उपचार निजी अस्पताल में चल रहा है।

Gorakhpur News: दस लाख रुपए व बच्ची को लेकर प्रेमी संग फरार हुई पत्नीGorakhpur News: दस लाख रुपए व बच्ची को लेकर प्रेमी संग फरार हुई पत्नी

डॉक्टर पवन कुमार ने बताया कि महिला के हाथ पैर बांधने की बात गलत है। मैंने ऐसा कुछ नहीं किया। हां ऑपरेशन से पूर्व बेहोश नहीं किया गया था।

बीआरडी मेडिकल कालेज प्राचार्य डॉ. गणेश कुमार ने बताया कि यह मेरी जानकारी में नहीं है। अगर डॉक्टर के खिलाफ लिखित शिकायत मिलती है तो कार्रवाई की जाएगी।

Comments
English summary
BRD medical college gorakhpur doctors careless complaned by woman
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X