• search
फिरोजाबाद न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

कोरोना के डर से डॉक्टरों ने खड़े किए हाथ तो भगवान बन कर आईं ये महिलाएं, सड़क किनारे कराई प्रसूता की डिलिवरी

|

फिरोजाबाद। उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में कोरोना काल का सबसे खौफनाक चेहरा सामने आया, जहां एक प्रसूता दर्द से तड़पती रही लेकिन किसी डॉक्टर का दिल नहीं पसीजा। जिस अस्पताल से उम्मीद थी वो भी बंद मिला। प्रसूता की पीड़ा बढ़ती गई और वजह जोर-जोर से चिल्लाने लगी। तभी मानवता सामने आई और आसपास की महिलाओं ने मिलकर महिला की डिलिवरी करवाई। बाद में एसडीएम ने मौके पर पहुंच महिला को इलाज के लिए जिला अस्पताल भिजवा दिया।

woman gave birth on road after doctor denied due to corona fear in firozabad

सड़क पर हुआ बच्चे का जन्म

यह पूरा प्रकरण तहसील शिकोहाबाद के बैंक ऑफ इंडिया के सामने का है, जहां एक प्रसूता को सड़क पर ही बच्चे को जन्म देना पड़ा। महिला के परिजनों की मानें तो वे प्रसूता को अलग अलग अस्पतालों में ले गए लेकिन सभी ने हाथ खड़ा कर दिया। फिर वो एक अन्य अस्पताल पर महिला को लेकर आए जो बंद था। इसके बाद महिला की प्रसव पीड़ा बढ़ने लगी। देखते ही देखते महिला जोर जोर से चिल्लाने लगी। तब मानवता ने अपना रूप दिखाया और कोरोना के भय को दूर करते हुए सड़क पर ही स्थानीय महिलाओं ने प्रसूता का प्रसव करने में मदद की।फिर सड़क पर ही एक बच्चे का जन्म हो गया।

मौके पर पहुंचे एसडीएम

वहीं, महिला की डिलिवरी की खबर जैसे ही शिकोहाबाद एसडीएम को लगी तो तत्काल वो एम्बुलेंस के साथ मौके पर पहुंचे और पीड़ित प्रसूता उसके नवजात बच्चे को जिला अस्पताल आगे के इलाज के लिए भिजवाया। एसडीएम नरेंद्र सिंह ने कहा कि अस्पताल क्यों बंद है, इसकी वो जांच कर कार्रवाई करेंगे।

यूपी में शराब की बिक्री को लेकर BJP MLA ने अपनी ही सरकार पर साधा निशाना, कहा- जैसा मुख्यमंत्री चाहेंगे...

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
woman gave birth on road after doctor denied due to corona fear in firozabad
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X