समझौते के मूड में नहीं है मिस्त्री, टाटा विवाद लेकर पहुंचे ट्राइब्यूनल

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

मुंबई। टाटा संस और साइरस मिस्त्री का विवाद खत्म होने का नाम नहीं ले रह है। आज इस विवाद ने नया मोड़ ले लिया। कंपनी से निष्कासित चेयरमैन साइरस मिस्त्री ने कल टाटा के 6 कंपनियों से इस्तीफा दिया तो वहीं आज वो इस विवाद को लेकर राष्ट्रीय कंपनी कानून न्यायाधिकरण पहुंच गए। मिस्त्री ने ट्राइब्यूनल में टाटा संस के खिलाफ शिकायत की है और कंपनी के बोर्ड कुप्रबंधन और उत्पीड़न का आरोप लगाया है।

cyrus mistry

साइरस मिस्त्री ने इस शिकायत में कंपनी कानून की धारा 241 का हवाला दिया है। जिसके मुताबिक कोई भी व्यक्ति कंपनी के नुकसानदायक या उसके हितों के खिलाफ उठाए गए कदमों की एनसीएलटी में शिकायत कर सकता है। इससे पहले साइरस मिस्त्रीने टाटा संस के 6 समूहों से इस्तीफा दे दिया था।

वहीं टाटा संस ने मिस्त्री पर आरोप लगाया था कि रतन टाटा की जगह नए चेयरमैन के चयन के लिए उन्होंने चयन समिति को गुमराह किया था। टाटा संस ने मिस्त्री पर आरोप लगाया कि उन्होंने वादे के अनुरूप अपनी पारिवारिक कंपनी शापोरजी पल्लोनजी से दूरी नहीं बनाई। वहीं साइरस मिस्त्री की ओर से भी लगातार आरोपों का दौर जारी रहा। साइरस मिस्त्री ने टाटा संस पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया। वहीं रतन टाटा पर भी उन्होंने गंभीर आरोप लगाए।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
A day after resigning from the boards of six listed Tata firms, Cyrus Mistry took the legal route in his fight against the Tatas by filing suit in National Company Law Tribunal against Tata Sons on Tuesday.
Please Wait while comments are loading...